10+ बक्सर में घूमने की जगह, खर्चा और जाने का समय

Buxar Me Ghumne ki Jagah : यहाँ आपको बिहार के बक्सर में घूमने जगहों की सारी जानकारी काफी असनी से समझाने की कोशिश की गई है। यहाँ आपको काफी अच्छे अच्छे पर्यटक स्थल देखने को मिल जाते हैं। बक्सर शहर अपने पर्यटक स्थलों की वजह से पुरे भारत देश में प्रशिद्ध है। यहाँ घूमने फिरने के दौरान आपको काफी खूबसूरत पर्यटन स्थल देखने को मिल जायेंगे।

बक्सर में घूमने की जगह , जाने का समय एवं

बिहार राज्य का बक्सर जिला न सिर्फ अपने पर्यटन स्थलों के कारन जाना जाता है बल्कि यहाँ हुए युद्ध के कारण भी काफी प्रशिद्ध है।

यहाँ के पर्यटन स्थल विश्व प्रशिद्ध है। इसलिए यहाँ आपको देशी विदेशी हर तरह के पर्यटक देखने को मिल जाते हैं।

बक्सर के बारे में कुछ रोचक तथ्य

  • यह बिहार का काफी प्रशिद्ध जिला है। इस जिले की अपनी एक अलग ही विशेष पहचान है। इस शहर का ऐतिहासकि एवं पौराणिक महत्व है।
  • बक्सर का पुराना नाम बगसर हुआ करता था।
  • यह आपको पटना से मात्र 130 किलोमीटर पश्चिम में देखने को मिल जायेगा एवं मुगलसराय से 7 किलोमीटर की दुरी में देखने को मिल जाता है।
  • व्यपार के लिए भी इस शहर का नाम काफी ज्यादा प्रशिद्ध है। हर कार्तिक पूर्णिमा को यहाँ एक बड़े से मेले का आयोजन होता है।
  • बक्सर शहर कभी विश्वामित्र का शहर हुआ करता था।
  • कहा जाता है इसी जगह पर विश्वामित्र तपस्या किया करते थे एवं उसने अपने तपोबल के दम पर इस स्थान को तपोवन में बदल दिया था।
  • साथ ही भगवान श्री राम और लक्ष्मण ने भी इसी स्थान में शिक्षा ग्रहण किया था एवं तमाम दुष्टों का नरसंहार किया था।
  • बक्सर का अलग अलग युगों में अलग अलग नामों से जाना जाता था सिद्धाश्रम, त्रेता युग में बमनाश्रम , द्वापर युग वेद गर्भा एवं कलयुग में व्याघ्रसर के नाम से जाना जाता है।
  • आज के समय में भी इसकी पहचान विश्वामित्र की नगरी के रूप में होती है।

बक्सर में लोकप्रिय पर्यटक स्थल (Buxar Tourist Places in Hindi)

बक्सर का किला

अगर आप बक्सर घूमने के लिए आ रहे हैं तो बक्सर में घूमने वाले पर्यटन स्थलों में राजा भोजदेव किला घूमने का मौका कभी भी छोड़े। यहाँ आने पर्यटकों के बीच यह किला काफी ज्यादा प्रशिद्ध है। इस किले की प्रशिद्धि सिर्फ और सिर्फ बिहार में ही नहीं बल्कि पुरे भारत में है। आज के समय में इस किले की हालत बहुत ही ख़राब है आज के समय में यह किला पहले जैसा बिलकुल भी नहीं है। कहने का मतलब आज के समय में इस किले की हालत काफी जीर्ण शीर्ण है।

Buxar fort
Buxar fort

वर्तमान समय में आप सिर्फ एवं सिर्फ इस किले की अवशेषों को हि देख सकते हैं। अगर आप बक्सर घूमने के लिए आ रहे हैं एवं किसी ऐसे स्थानों की तलाश में हैं जहा आप शन्ति के कुछ पल को बिता सके तो फिर आपको यहाँ अवश्य आना चाहिए। यह किला आपको डुमराँव प्रखंड में नया भोजपुर गांव में देखने को मिलता है।

गौरी शंकर मंदिर

बक्सर में घूमने के दौरान यदि आप किसी ऐसे स्थान में जाना चाहते हैं। जिसमे आपकी धार्मिक आस्था हो तो आपका बक्सर में घूमने वाली स्थानों में इस गोरी शंकर मंदिर स्वागत है। यह यहाँ का काफी प्रशिद्ध धार्मिक स्थल है। यहाँ आपको भगवान शिव का मंदिर देखने को मिलता है साथ में माता पार्वती एवं नंदी महाराज का भी मूर्ति देखने को मिल जायेगा। यहाँ की कलाकृति देखने में काफी ज्यादा सुंदर लगती है।

Gaurishankar Mandir
Gaurishankar Mandir

यात्रा के दौरान यदि आप यहाँ घूमने के लिए आते हैं तो आपको यहाँ आने के बाद काफी शांति का अनुभव होता है। मंदिर के सामने बना हुआ तालाब इस मंदिर की खूबसूरती में चार चाँद लगा देता है।

नौलखा मंदिर

नौलखा मंदिर बक्सर में घूमने वाले पर्यटन स्थलों में काफी शानदर मंदिर है। पूर्वी भारत का यह काफी प्रशिद्ध धार्मिक स्थल है एवं बिहार एवं इसके आसपास के क्षेत्रों में इसका एक अलग ही क्रेज देखने को मिलता है। इस मंदिर में आपको भगवान विष्णु एवं लक्ष्मी की मूर्ति देखने को मिलेगी। इस मंदिर में खासकर इन्ही दोनों की पूजा की जाती है। साथ ही यहाँ आप अन्य देवी देवताओं की मूर्तियों को देख सकते हैं।

Naulakha Mandir
Naulakha Mandir

यह मंदिर देखने में बिलकुल ही दक्षिण भारत के मंदिरों के तरह ही दिखती है। इस मंदिर की कलाकृति आपको साउथ के तिरुपति मंदिर की कला कृति जैसीही देखने को मिलती है। यहाँ का वातावरण काफी शांतिमय है , जहाँ आप काफी शकुन एवं शांति का अनुभव कर सकते हैं।

इसे भी पड़े

सीताराम उपाध्याय संग्रहालय

यहाँ घूमने आने वाले पर्यटकों की पहली पसंद के रूप में नाम आता है बक्सर में घूमने लायक सबसे शानदार जगहों के रूप में प्रशिद्ध यहाँ के सीताराम उपाध्याय संग्राहलय का। अगर बक्सर की इतिहास समझना चाहते हैं तो यहाँ का सीताराम उपाध्यय संग्रहालय सबसे सर्वोत्तम संग्राहल है। यह संग्रहालय आपको रामघाट के तरफ जाने वाले रास्ते में देखने को मिल जायेंगे।

Sitaram upadhaya museum
Sitaram upadhaya museum

यहाँ आपको ज्यादातर ऐसे ही चीजें देखने को मिलती है जिससे की आपको यहाँ के इतिहास को काफी अच्छी तरह से समझने में सहायता मिलती है। उनमे से कुछ के नाम प्रमुख हैं यहाँ की पांडुलिपियां और सिक्के। इस संग्रहालय को 1979 में पूरी तरह से बनाकर तैयार किया गया था।

कतकौली का मैदान

अगर आपने थोड़ी बहुत भी इतिहास के पन्ने पड़े होंंगे को आपको बक्सर के युद्ध के बारे में पता ही होगा। बक्सर का युद्ध न सिर्फ बिहार एवं भारत बल्कि पुरे विश्व में यह काफी ज्यादा प्रशिद्ध है। बक्सर का युद्ध दो गुटों ब्रिटश शासन एवं मुग़ल सम्राटों के बीच हुआ था। यह लड़ाई 23 अक्टूबर 1964 को कतकौली मैदान में लड़ा गया था।

Katkauli Ka Maidan
Katkauli Ka Maidan

वर्तमान समय में यह कटकौली मैदान यहाँ आने वाले पर्यटकों के लिए काफी लोकप्रिय बन गया है। यहाँ आप रोजाना हजारों की संख्या में पर्यटकों का भीड़ देख सकते हैं।

रामरेखा घाट बक्सर

बक्सर जिले में घूमने वाले पर्यटन स्थलों में आपको यहाँ राम रेखा घाट भी देखने को मिल जायेगा। यह इस जिले में धार्मिक घाट के रूप में काफी ज्यादा प्रशिद्ध है , यह घाट काफी सूंदर घाट भी है। यहाँ आपको भगवान शिव का भी प्राचीन मंदिर देखने को मिलता है। अगर आप शांत वातावरण के शौकीन हैं तो फिर आपको यह जगह विशेष रूप से पसंद आने वाला है।

 Ramrekha Ghat
 Ramrekha Ghat

कहा जाता है अगर आप इस रामघाट में स्नान करते हैं तो आपको काफी पुण्य मिलता है एवं आपके सरे पाप धूल जाते हैं। इसलिए बक्सर घूमते समय आप यहाँ आकर खुद को पवित्र करने का मौका बिलकुल भी न छोड़े।

शहीद स्मारक

यहाँ आपको बक्सर में घूमने वाले पर्यटन स्थलों में एक शहीद स्मारक भी देखने को मिल जायेगा। यह शहीद स्मारक बिहार के उन शहीद की याद में बनवाया गया है जिन्होंने भारत्त की रक्षा करते हुए अपने प्राणों का बलिदान दिया था।

shahid smarak
shahid smarak

इस स्मारक को समुद्र के बीच टापू की तरह बनाया गया है , जिसके कारन यह देखने में और भी ज्यादा खूबसरूत लगता है। अगर आप बक्सर में घूमने के लिए आ रहे हैं तो यहाँ घूमने के लिए अवश्य आएं।

बक्सर का प्रसिद्ध भोजन

अगर आपने बिहार एवं बिहारियों के बारे में सुना होगा तो यहाँ के लिट्टी चोखा के बारे में जरूर सुना सुना होगा। इन सब के अलावा बिहार में दाल चावल , मटनकवाब रसिया , सत्तू , शरबत , खाजा दाल पीठा काफी ज्यादा फेमस है।

यहाँ का लिट्टी चोखा सिर्फ बिहार और भारत में नहीं बल्कि पुरे विश्व में सिर्फ सिर्फ बक्सर एवं बिहार के कारण प्रशिद्ध है।

इसके अलावा सबसे ज्यादा आपको दाल चावल एवं रोटी सब्जी देखने को मिलता है।

बक्सर में रुकने की जगह

अब बात करते हैं बक्सर में रुकने के बारे में यहाँ आपको रुकने के लिए काफी अच्छे अच्छे होटल मिल जायेंगे। यहाँ के होटल आपको हर बजट में मिल जायेंगे।

आपको यहाँ पर सस्ता एवं महंगा दोनों ही तरह के होटल मिल जायेंगे , अगर आप एक बजट ट्रेवलर हैं तो आपकी जानकारी के लिए बता दें की आप यहाँ पर एक दिन में 700 से 1500 तक का खर्च करके ठहर सकते हैं।

इनके अलावा अगर आपका बजट अच्छा खासा है तो आपको यहाँ एक से एक शानदार एवं महंगे होटल मिल जायेंगे।

बक्सर घूमने जाने का सही समय

वैसे तो आप बक्सर में घूमने के लिए किसी भी मौसम में आ सकते हैं। लेकिन आपके लिए यहाँ घूमने के लिए सबसे शानदर मौसम सर्दियों का ही मौसम होता है जो की अक्टूबर से मार्च के बीच पड़ता है। इस समय यहाँ का वातावरण शांत एवं घूमने के लायक रहता है।

अगर आप गर्मियों के समय में घूमने का मन बना रहे हैं तो आपको यह जान लेना चाहिए की गर्मियों के समय में यहाँ वातवरण बिलकुल ही घूमने लायक नहीं होता है।

बक्सर कैसे पहुंचे?

आप भारत के किसी भी शहर से बक्सर तक हवाई मार्ग , सड़क मार्ग एवं रेल मार्ग के द्वारा पहुंच सकते हैं।

हवाई मार्ग के द्वारा

यहाँ बिहार के बक्सर जिले में भी हवाई अड्डे की व्यवस्था है। बक्सर जिले का यह हवाई अड्डा देश के सरे हवाई अड्डे से काफी अच्छी तरिके से जुड़ा हुआ है। आप भारत के किसी भी छोटे बड़े शहर से यहाँ तक काफी आसानी से पहुंच सकते हैं।

हवाई अड्डे के बाहर की यात्रा आप टैक्सी एवं बस से कर सकते हैं।

आपको बक्सर के लिए दिल्ली एवं कोलकता से भी फ्लाइट मिल जायेगा।

रेलवे मार्ग द्वारा

बिहार के बक्सर शहर में रेलवे की भी काफी अच्छी व्यवस्था है। यहाँ आप भारत के भी क्षेत्र के रेलवे मार्ग द्वारा काफी आसानी से यहाँ पहुँच सकते हैं। इसके अलावा आपको यहाँ के लिए दिल्ली एवं कोलकाता के लिए भी ट्रैन मिल जाती है।

रेलवे स्टेशन पहुंचते ही आपको बाहर में काफी सारे ऑटो एवं कैब मिल जायेंगे जिसे की बुक करके आप पुरे बक्सर के पर्यटन स्थलों का भर्मण कर सकते हैं।

सड़क मार्ग के द्वारा

अगर आप बिहार के ही किसी जिले से हैं एवं बक्सर घूमने के लिए सड़क मार्ग को चुनते हैं तो आप किसी भी जिले से यहाँ तक पहुँच सकते हैं।

अगर आप भारत के किसी अन्य शहर है तो पहले आपको बिहार के पटना शहर के लिए बस का टिकट बुक करना होता है। उसके बाद पटना से बक्सर के लिए आप बस आसानी से मिल जायेगा।

साथ ही यहाँ तक आने के लिए आप अपने निजी वाहनों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

बक्सर में कैसे घूमे

बक्सर जाने से पहले हमेशा एक बात अपने दिमाग में बैठा कर रख लें बक्सर घूमने जाने से पहले आपको बक्सर का एक रुट मैप अपने साथ रख लेना चाहिए उसी के हिसाब से आगे की यात्रा की पलानिंग करें।

बक्सर पहुंचते ही यहाँ आपको किराये में वाहन एवं बाइक मिल जायेंगे ,जिसके सहायता से आप पुरे बक्सर का भर्मण आसानी से कर सकते हैं।

बक्सर घूमने का खर्चा

अगर आप अकेले बक्सर घूमने के लिए आ रहे हैं तो आप पुरे बक्सर को मात्र 9000 के खर्चे में काफी अच्छी तरह से घूम सकते हैं।

बक्सर घूमते समय साथ में क्या रखें?

क्योंकि आप बक्सर घूमने के लिए सर्दियों के मौसम में आ रहे हैं इसलिए बक्सर घूमते समय आपको अपने साथ सर्दियों में इस्तेमाल किये जाने वाले कपड़ों को जरूर से जरूर रख लेना चाहिए। इसके अलावा अपने साथ ड्राइविंग लइसेंस , वोटर कार्ड , खाने पीने की कुछ चीजें एवं जरुरी दवाइयों को अपने साथ जरूर रखें।

FAQ

बक्सर में सबसे ज्यादा मशहूर चीज क्या है ?

बक्सर में सबसे ज्यादा प्रशिद्ध चीज कटकौली का मैदान है।

बक्सर कहाँ है ?

बक्सर बिहार में स्थित में है।

बक्सर का सबसे बड़ा गांव कौन सा है ?

बक्सर जिले का सबसे बड़ा गांव मौडिया गांव है।

बक्सर में कौन सी नदी बहती है ?

बक्सर में आपको गंगा नदी देखने को मिलती है।

बक्सर जिले में कितने प्रखंड हैं ?

बक्सर जिले में आपको 11 प्रखंड देखने को मिलते हैं।

निष्कर्ष

मैंने अपने इस लेख बक्सर में घूमने की जगह( Buxar Me Ghumne ki Jagah) के माध्यम से आपको सारी जानकारी काफी डिटेल में पहुंचाने की कोशिश की है।

आशा करते हैं की मेरे द्वारा दी गई जानकारी आपके काफी काम आयी होगी , यदि मेरा यह लेख आपके काम आयी हो तो इसे अपने सोशल मिडिया के अकाउंट में शेयर करना बिलकुल भी न भूलें।

अगर इस लेख से सम्बंधित आपके मन में किसी भी प्रकार का सवाल चल रहा हो तो इसे कमेंट सेक्शन के द्वारा हमे बताना कभी भी न भूलें।

Leave a comment