20+ दिल्ली में घूमने की जगह , जाने का समय और खर्चा

इस लेख के माध्यम से आप दिल्ली में घूमने की जगह (Delhi me Ghumne Ki Jagah),जाने का समय , कैसे जाएँ ,कैसे घूमें , कहाँ रुकें क्या खाएं ,दिल्ली घूमने में कितना खर्चा आता है। इन सारी चीजों की जानकारी आसानी से आपको मिल जाती है।

क्योंकि दिल्ली भारत की राजधानी है इसलिए यहाँ आपको हर जाती धर्म समुदाय के लोग देखने को मिलते हैं। दिल्ली का नाम भारत के बड़े महानगरों में आता है। यहाँ आपको हर राज्य के लोग देखने को मिलते हैं।

दिल्ली नर्मदा नदी के किनारे बसा हुआ है . यहाँ आपको धार्मिक आस्था रखने वाले लोगों का भी काफी ज्यादा भीड़ देखने को मिलता है। यह शहर सिर्फ भारतीयों द्वारा ही नहीं बल्कि विदेशी पर्यटकों द्वारा भी काफी पसंद किया जाता है।

दिल्ली में घूमने की जगह , जाने का समय और खर्चा

दिल्ली की प्रशिद्धि का मुख्य कारण यहाँ की संस्कृति , स्वादिष्ट भोजन, बड़ा बाजार यहाँ की ऐतिहासिक इमारते हैं। दिल्ली में ऐसा ऐसा पर्यटन स्थल है जहाँ हर तरह के लोग आना चाहते हैं।

दिल्ली सिर्फ आपने पर्यटक स्थलों और ऐतिहासिक इमारतों के कारण ही नहीं जाना जाता है। यह व्यापार के लिए भी काफी विशेष स्थान रखता है। यह व्यापर के लिए भारत के अंतरास्ट्रीय प्रवेश द्वार के रूप में काफी प्रशिद्ध है।

यहाँ आप अन्य जगहों की तुलना में वर्ष भर पर्यटकों का जमावड़ा आपको देखने को मिलता है। आबादी के मामले यह मुंबई के बाद देश के दूसरे सबसे बड़े शहरों में आता है।

दिल्ली के कुछ  रोचक तथ्य 

  • यह भारत की राजधानी है और उत्तरी भारत में बसी है।  
  • दिल्ली की जसंख्या 14 मिलियन है , आबादी के हिसाब यह महानगरों में दूसरे  आता   है।  
  • 1 नंवम्बर 1956 के दिन ही  दिल्ली को केंद्र शाषित प्रदेश में सम्लित  किया गया।  
  • दिल्ली को  भारत के ह्रदय के  तौर  पर भी जाना जाता है क्योंकि यहाँ भारत के सभी जिले गॉवों कस्बों रहने आते हैं।  
  • दिल्ली एक विशेष इतहाषिक शहर भी है, यहां आपको बहुत सरे मंदिर मस्जिद गुरूद्वारे मिल जायेंगे।  
  • इस दिल्ली शहर पर कितने राजाओं ने राज किया ,  हिन्दू और मुगल दोनों राजाओं ने इसे अपनी राजधानी बनाया। दिल्ली 7 बार उजड़ी भी गयी और बनायीं भी गयी।  
  • महाभारत के समय में पांडवों ने यही पे इंद्रपरस्थ नगरी बसाई।  
  • दिल्ली में आपको 2 दिलियाँ देखने को मिलेगी, पुरानी दिल्ली तथा नयी दिल्ली।  
  • दिल्ली मे एशिया का सबसे बड़ा फलों और सब्जियों का सबसे बड़ा बाजार भी है जो की आजादपुर में है और थोक बाजार के नाम से जाना जाता है। 
  • जंतर मंतर में पुराने समय में सूर्य चन्द्रमा तथा नक्ष्रत्रों का अध्ययन किया जाता है। 
  • दिल्ली अपने स्वादिस्ट भोजन  के लिए भी एक अलग महत्व रखता है। 
  • दिल्ली में स्थित इंद्रा गाँधी हवाई अड्डा सबसे व्यसत हवाई अड्डा में से एक है।  
  • एशिया का सबसे बड़ा मसाला बजार भी दिल्ली में है।  
  • यह भारत के सबसे प्रदुषित शहरों में से एक है, जिस कारण यहाँ ठंडी के समय में साँस लेने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।  

दिल्ली में घूमने की जगह (Delhi Me Ghumne ki Jagah)

अगर आप दिल्ली जा रहे है और दिल्ली  सोंच रहे यहीं तो आपको कुछ जगहों के बारे में जानना बहुत ही जायदा जरुरी  है।  जो आपको कभी भी बोर नहीं होने देगा।  

दिल्ली का प्रशिद्ध पुराना किला 

 दिल्ली का यह किला सबसे  प्राचीन  किलों में से एक  है इसका निर्माण शेरशाह शुरी ने 1538 ईस्वी में करवाया था

पुराना किला

  

महाभारत के समय पांडवों ने यहाँ पे इंदरप्रस्थ नगरी बनाया था, उस समय दिल्ली को ही इंदरप्रस्थ के नाम से जाना जाता था।  पांडवों ने इसे ही अपना राजधानी बनाया था।  

इस पुराने किले में आपको तीन दरवाजे देखने को मिलेंगे , बड़ा गेट तलाकी गेट और हिमायु गेट।  दिल्ली के इस पुराने गेट में शाम के समय लाइट शो का आयोजन होता है, जिसके कारन यहाँ पर्यटकों का काफी भीड़ देखने को मिलता है।  

शिल्प संग्रहालय 

अगर आप शहरों में रहते रहते गॉवों के संस्कृति को भूल चुके हैं या फिर आप गावों के संस्कृति से परचित नहीं है।  

गावों के माहौल को जानने का विचार रखते है तो फिर इस शिल्प संग्रहालय में आपका स्वागत है।  यहाँ पे आपको गाँव  का माहौल मिलेगा , गांव की संस्कृती गाँव के जीवन शैली के बारे में जानने का मौका मिलेगा। 

शिल्प संग्रहालय
शिल्प संग्रहालय (क्राफ्ट म्युसियम)

 

यहाँ पर सबकुछ गांव  के माहौल के अनुशार ही  सजाया गया है, बैल  गाड़ी, झोपडी, कुवां पेड़ पौधा जो आपको पूरी तरह से गौण का ही माहौल देता है।  

दिल्ली का नेशनल वॉर मेमोरियल

इस स्मारक को देश के शहीदों के समर्पण में बनाया गया है।  इस समरक को उन सैनिको की यादों में बनाया गया है जो 1965 में भारत और   चीन के बीच तथा 1999 में भारत और पकिस्थान के युद्ध में शहीद हुए थे।  इन्ही के याद में यहाँ 15 मीटर ऊँचा स्मारक बानाया गया है।  

नेशनल वॉर मेमोरियल
नेशनल वॉर मेमोरियल

यहाँ एक अखंड ज्योति भी है जो लगातार जलती रहती है।  इस स्तम्ब के चारों तरफ उन जवानो के नाम लिखे हुए हैं जो इस युध्द में शहीद हुए थे।   

इस स्तम्ब को अद्भुत लाइटिंग से सजाया गया है, जो की रात के समय अद्भुत नजरा दिखता है।  

 

दिल्ली का राष्ट्रपति भवन 

यदि आप दिल्ली से हैं या दिल्ली के बाहर से हैं अगर आप दिल्ली आ रहे हैं तो राष्ट्रपति भवन देखना कभी  भी न भूलें।  इस इमारत को पहले वायरस हाउस के नाम से जाना जाता  था लेकिन अब इसे  राष्ट्रपति भवन के नाम से जाना जाता है।   भारत का राष्ट्रपति भवन  भारत को काफी गौरवान्वित करता है।  

वर्त्तमान समय में  का राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति का कारभार संभाला है। राष्ट्रपति को  भारत का पहला नागरिक कहा जाता है।  

राष्ट्रपति भवन
राष्ट्रपति भवन

 दिल्ली में स्थित राष्ट्रपति भवन विदेशो में काफी प्रशिद्ध है इसे देखने के लिए देश विदेश से काफी संख्या में पर्यटक आते है।  

इस भवन का निर्माण सर लुटियन ने करवाया था।  इसे बनाने में 17  साल का समय लगा था ,  यह 1912 में शुरू हुआ था और  1929   में बनकर तैयार हुआ था।  

राष्ट्रपति भवन 340 एकड़ के विशल क्षेत्र में फैला हुआ है , इसमें 340 कमरे हैं और 700 से अधिक कर्मचारी काम करते है और इस  इस विशाल भवन की देख रेख करते है। 

यह पहले वायसराय पैलेश हुआ करता था।  इसमें पोलो ग्राउंड  गोल्फ ग्राउंड 9 टेनिस कोर्ट  और बेहद खूबसूरत  मुग़ल गार्डन भी है।  यहाँ आपको एक क्रिकेट ग्राउंड भी देखने को मिलेगा।    

एडवेंचर आइलैंड 

 अगर आप रोमांचक गतिविधियों के शौकीन हैं तो तो दिल्ली एनसीआर में स्थित एडवेंचर आइसलैंड आना न भूलें। 

एडवेंचर आईलैंड
एडवेंचर आईलैंड

 

अगर आप साहसिक पर्यटकों में से आते हैं तो आपके लिए परफेक्ट लोकेशन है यहाँ पे हर आयु वर्ग के लोग  इंजॉय के लिए आते है जैसे बच्चे , व्यस्क और कपल।  जहाँ हर आयु वर्ग के लोगों के लिए झुले, ट्विस्टर वाटर स्लाइड्स , ट्विस्टर की सवारी के लिए एंड्रोलिन पम्पिंग महशुस करें। इसके अलावा वेव रॉकर, इट्स इ  रिंग रिंगा, बुश बग्गीज, स्पेलश डंक, पानी की सवारी स्काई  राइडर्स , बंपर कारें और इस तरह के अनेकों नेक गतिविधियों का मजा आप ले सकतें है।  

दिल्ली का प्रसिद्ध  जंतर मंतर 

इसका निर्माण महाराजा सवाई जय सिंह ने करवाया था इसका निर्माण 17 से 24 में किया गया था।  

इसका निर्माण ग्रहों और समयों  गति का पता लगाने  के लिए किया था।  

जंतर मंतर
जंतर मंतर

दिल्ली के जंतर मंतर 13 आर्किटेक्टर इकोनॉमी इंस्ट्रूमेंट मौजूद है , जो सूर्य की सहायता से समय और ग्रहों की सही सूचना  देता है।  

सम्राट यंत्र का यह सबसे बड़ा यंत्र है।  ऐसा   जंतर मंतर आपको सिर्फ  दिल्ली में ही देखने को नहीं मिलेगा , इसके अलावा जयपुर, उज्जैन, मथुरा और वारणशी में  भी देखने को मिलेगा।    

दिल्ली हट 

दिल्ली हाट दिल्ली के जनकपुर इलाके में स्थित है यह एक अनोखा पर्यटन स्थल है।  जहां पे आप  विभिन्न कलचरों का आंनद ले सकते है।  यहाँ आपको विभिन राज्यों के खाना पीना ,  पहनावा सभी को एक ही साथ देखने का मौका मिलेगा।  

दिल्ली हट
दिल्ली हट

इसके साथ ही यहाँ आपको शिल्पकर, हस्तशिल्प, हेंडीक्राफ्ट, जैसे बहुत सारी कलाओं  का मिश्रण देखने को मिलेगा।  यहाँ आप भारत के किसी भी राज्य के खान पान का  आनंद ले सकते है।  इसके अलावे आप विभिन्न राज्यों के पहनावे का याद के तोर पर खरीद के ले जा सकते है।  

दिल्ली का प्रशिद्ध कुतुबमीनार

दिल्ली में घूमने की जगह में कुतुबमीनार दिल्ली में एक ऐतिहासिक ईमारत के रूप में प्रशिद्ध है जो की विश्व की सबसे बड़ी इमारत के रूप में जानी जाती है।

कुतुब मीनार
कुतुब मीनार

यह मीनार आपको दिल्ली के मरोली नाम के स्थान में देखने को मिलते है। जिसका निर्माण कुतुब्दीन ऐबक ने 1192 ईस्वी में करवाया था। समय के साथ साथ कई बड़े बड़े राजाओं महाराजाओं ने इस ईमारत का जीर्णोद्वार करवाते रहे।

यह दिल्ली ही नहीं विश्व की भी सबसे बड़ी ईमारत है जिसकी ऊंचाई 72.5 मीटर है। अगर आप दिल्ली में घूमने की जगह को एक्स्प्लोर करने के लिए आ रहे हैं तो यहाँ आपको आयरन पिलर और अलाई दरवाजा भी देखने को मिलते हैं। इसे वर्ल्ड हेरिटेज की साइट में भी शामिल किया गया है।

दिल्ली का प्रशिद्ध लोटस  टेम्पल 

दिल्ली में घूमने की जगह में लोटस टेम्पल काफी प्रशिद्ध है। इस टेम्पल को पर्यटकों के द्वारा काफी पसंद किया जाता है। यह देखने में काफी खूबसूरत और आकर्षक लगता है और बिलकुल ही सफ़ेद कमल के तरह, यहाँ आपको पर्यटकों का जनसैलाब देखने को मिलता है।

लोटस टेंपल
लोटस टेंपल

यह टेम्पल देखने में बिलकुल कमल फूल के तरह दिखाता है इसी कारन इसका नाम लोटस टेम्पल रखा गया है। यह टेम्पल आपको नेहरू प्लेस में देखने को मिलता है। इसे 1986 में बनवाया गया था।

इस मंदिर की सबसे बड़ी खासयत यह है की यहाँ आपको किसी भी तरह की कोई मूर्ति देखने को नहीं मिलती है। फिर भी यह दुनिया में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला पर्यटन स्थल है। यहाँ सभी धर्म के लोगों का स्वागत है यहाँ आप बैठकर धर्म ग्रंथों का अध्ययन कर सकते हैं।

कमल के फूल को शांति का प्रतीक माना जाता है। यह जगह शांति के लिए काफी प्रशिद्ध है , यहाँ आपको असीम शांति की प्राप्ति होती है। जो की आपके मन को काफी ताकतवर बनाता है।

नेशनल जूलॉजिकल चिड़ियाँघर 

यदि आप दिल्ली में आपने परिवार के साथ घूमने की लिए आ रहे हैं और दिल्ली में घूमने की जगह नेशनल जूलॉजिकल पार्क में घूमने न जाएँ तो फिर आपके यहाँ आने का कोई मतलब नहीं रह जाता है।

नेशनल जूलॉजिकल चिड़ियाघर
नेशनल जूलॉजिकल चिड़ियाघर

इस Zoo में आपको अनेकों अनेकों विलुप्त हो रहे पशु पक्षी तथा जानवरों को देखने का मौका मिलता है। जो की आपके बच्चों के लिए काफी ज्ञानवर्द्धक हो सकता है। और इस चिडियांघर को बच्चों के द्वारा काफी पसंद किया जाता है।

हुमायू का मकबरा 

यदि आप दिल्ली घूमने के लिए आ रहे हैं। दिल्ली में घूमने की जगह में हुमायूँ के मकबरे में आना कभी भी न भूलें , यह मकबरा आपको दिल्ली के निजामुद्दीन में देखने मिलता है।

हुमायूँ का मकबरा
हुमायूँ का मकबरा

इस मकबरे का निर्माण हुमायूँ की विधवा बेगम हमीदो बानो ने 1569 ईस्वी में करवाया था। अगर आप यहाँ इस मकबरे की भर्मण के लिए आते हैं तो मकबरे के चारोँ तरफ आपको कई सारे बगीचे देखने को मिलते हैं।

इस मकबरे में यहाँ के शासक हुमायूँ के अलावा और भी बहुत सारे कब्र आपको देखने को मिलते हैं। यह पूरी तरह से निशुल्क है।

हौज खास किला 

अगर आप अपने बीवी बच्चों और परिवार वालों के साथ यहाँ पर घूमने के लिए आ रहे हैं दिल्ली में घूमने की जगह के हौज खास किला घूमने आना कभी भी न भूलें। यहाँ आपके परिवार तथा आपके लिए एक अच्छा वातावरण , हरा भरा माहौल के साथ साथ बहुत कुछ करने के लिए है।

हौज खास किला
हौज खास किला

अगर आप इतिहास में रूचि रखते हैं और इतिहास प्रेमी हैं तो दिल्ली के हौज खास किला में आपका स्वागत है। यह भारत के ऐतिहासिक धरोहर के रूप में काफी प्रशिद्ध है।

इस किले को बनवाने का श्रेय अलाउद्दीन खिलजी को जाता है , जिन्होंने इसकी स्थापना 1284 ईस्वी में करवाया था। यहाँ आपको एक झील भी देखने को मिलता है। जिसका इस्तेमाल जलसंरक्षण के लिए किया जाता था।

यहाँ आपको 900 साल इतिहास के चित्र भी देखने को मिलते हैं। यहाँ के हरे भरे और शांत वातावरण के कारण यह पर्यटकों के लिए मुख्य आकर्षण का केंद्र है।

इंडिया गेट 

अगर आप दिल्ली घूमने के लिए आ रहे हैं तो दिल्ली में घूमने की जगह इंडिया गेट को अपने यात्रा की लिस्ट में शामिल करना न भूलें , क्योंकि इस इंडिया गेट का नाम भारत के प्रशिद्ध इमारतों में आता है। इसे अखिल भारतीय युद्ध समारक भी कहा जाता है।

इंडिया गेट
इंडिया गेट

दिल्ली आने वाले प्रायः हर लोग यहाँ पर जरुर आते हैं क्योंकि यह दिल्ली के मध्य में स्थित राज्य मार्ग पाथ में स्थित है।

इंडिया गेट का निर्माण प्रथम विश्व युद्ध तथा अफगानिस्थान के युद्ध के दौरान शहीद हुए सैनिकों की याद में करवाया गया था। इसे स्मारक का निर्माण 1931 में करवाया गया था। उस समय युद्ध के दौरान 90000 सैनिकों ने अपने प्राणों की आहुति दी थी।

यहाँ आपको अमर जवान की ज्योति देखने को मिलती है। जो की 1971 से बिना बुझे ही जलती आ रही है। यहाँ आपके बहुत सारे सैनिकों के नाम भी देखने को मिलते हैं।

26 जनवरी के समय यहाँ आपको शानदर परेड देखने मिलता है जिसकी मेजबानी यहाँ पर की जाती है। इस कार्यकर्म का आयोजन यहाँ पर प्रधानमंत्री के उपस्थिति में की जाती है।

यह देश के प्रमुख युद्ध स्मारक के रूप में जाना जाता है , यहाँ आने के बाद लोगों के दिलों में देश भक्ति की भवना जागृत जाती है।

वेस्ट तू वंडर पार्क 

दिल्ली में घूमने की जगह में वेस्ट टू वंडर पार्क काफी खास पर्यटन स्थल है। जिसकी जानकारी बहुत ही काम लोंगो को है। यहाँ आप दुनियाँ के सातों अजूबों को एक साथ देख सकते हैं और इस पार्क की सबसे बड़ी खासयत यह है की इसे बनाने के लिए सिर्फ और सिर्फ कबाड़ /कचड़े का ही इस्तेमाल किया गया है। इसलिए इसे वेस्ट टू वंडर पार्क कहा जाता है।

वेस्ट टू वंडर पार्क
वेस्ट टू वंडर पार्क

यह आपको दिल्ली के सराय काले खा में देखने को मिलता है। यहाँ आप साथ अजूबों में से ताजमहल, आइफ़िल टावर , मिस्र का पिरामिड और पीसा की झुकी हुई मीनार इन सारे अजूबों को आप एक साथ यहाँ पर देख सकते हैं।

जमा मस्जिद 

दिल्ली में घूमने की जगह में काफी प्रशिद्ध है यह जामा मस्जिद , जो की भारत के सबसे बड़े मस्जिद के रूप में जाना जाता है। इसे बनवाने का श्रेय मुगल सम्राट शाहजहाँ को जाता है। उन्होंने इसे 1665 में बनवाया था जो की दिल्ली के बीचों बीच चांदनी चौक में स्थित है। इसे बनवाने में 6 साल का समय लगा था।

जामा मस्जिद
जामा मस्जिद

जाम मस्जिद को 5000 मजदूरों की सहायता से बनवाया गया था।

दिल्ली में घूमने की जगह में यह मस्जिद इतनी बड़ी है की इसमें एक साथ 25000 लोग आसानी से नमाज पढ़ सकते हैं। मस्जिद में आपको मस्जिद की एक कोन झुकी हुए देखने को मिलती है।

ईद के मोके पर यहाँ मुस्लिम समुदाय के लोंगो का काफी भीड़ देखने मिलता है। यहाँ आने के लिए आपको किसी भी प्रकार का कोई भी प्रवेश शुल्क नही देना होता है।

लाल किला 

अगर आप घूमने फिरने के शौकीन है और दिल्ली घूमने के लिए आ रहे हैं तो दिल्ली में घूमने की जगह में लाल किला में जाना कभी भी न भूलें। यह इतिहास प्रेमियों के द्वारा काफी पसंद किया जाने वाला पर्यटक स्थल है। इसे बनवाने के लिए लाल बलुवा पत्थर का इस्तेमाल किया गया था। लाल किले में लगे लाल बलुवा पत्थर के कारण ही यहाँ के पर्यटक काफी संख्या इसकी और आकर्षित होते है।

लाल किला
लाल किला

यह आपको पुरानी दिल्ली में देखने को मिलती है और यहाँ रोजाना आपको हजारों पर्यटक देखने को मिलता है। इसे मुगलों के शाषक शाहजहाँ के द्वारा 1639 में निर्माण करवाया गया था , जो की उस समय मुगलों की राजधानी हुआ करती थी। लेकिन आज यह दिल्ली में घूमने की जगह में बेहतरीन पर्यटन स्थल है।

लाल रंग होने की वजह से इस किले का नाम लाल किला पड़ा जो की यमुना नदी के किनारे स्थित है। जिसे 2007 में यूनेस्को विश्व धरोहर में शामिल किया गया है।

किले के भीतर भी आपको बहुत कुछ देखने को मिलता है। रंग महल इस किले का सबसे खास महल है। किले के अंदर आपको एक पार्क भी देखने को मिलता है। यहाँ आपको और भी बहुत सारे महल देखने को मिलते हैं जो की अब खंडहर बन चुके हैं।

यहाँ पर्यटकों द्वारा सबसे ज्यादा विजिट किया जाने वाला मुगल बादशाहों का एक संग्रहालय आपको देखने को मिलता है। जिसमे मुगल शासक के समय में उपयोग में लाये जाने वाले वस्तुओं, हथियारों तथा अन्य सामग्रियों को आप देख सकते हैं।

घूमने फिरने के दौरान किसी भी तरह के दिक्कतों का सामना न हो इसके लिए , यहाँ आपको दुकानों की भी व्यवस्थता भी देखने को मिलती है। जहाँ आप यात्रा के दौरान खाने पीने के कुछ चींजों को खरीद सकते हैं। वापस आते समय अच्छी खासी शॉपिंग भी कर सकते हैं।

ओखला वर्ल्ड सेंचुरी

यदि आप नेचर लवर और पंछी लवर हैं तो दिल्ली में घूमने की जगह ओखला वर्ल्ड सेंचुरी में आना कभी भी न भूलें।दिल्ली में सबसे ज्यादा पक्षी आपको यही पर देखने को मिलता है। यहाँ आप तरह तरह के रंग बिरंगी पंछियों को देख सकते हैं। एक साथ सैकड़ो प्रजातियों की पंछियों को देखने का मजा ही कुछ और है।

ओखला वर्ल्ड सेंचुरी
ओखला वर्ल्ड सेंचुरी

अंदर आपको काफी हरा भरा माहौल देखने को मिलता है साथ ही विभिन्न प्रजातियों की पक्षियों को एक साथ देखना आपके लिए सचमुच काफी शुकुन भरा पल होता है। जो की आपके मन को हल्का और स्ट्रेस फ्री होने में मदद करता है।

यहाँ आपको एक झील भी देखने को मिलती है और साथ ही चारों और व्यू पॉइंट भी देखने को भी मिलती है। जहाँ पर पर्यटकों की बैठने की व्यवस्था की गयी है। यहाँ के नजदकी मेट्रो स्टेशन ओखला विहार से आप यहाँ तक आसानी से पहुँच सकते हैं।

अक्षरधाम टेम्पल

यदि आप दिल्ली घूमने के लिए आ रहे हैं भक्ति भावना और आस्था में यकींन रखते हैं और आप धार्मिक प्रवृति के इंसान हैं तो दिल्ली में घूमने की जगह अक्षरधाम मंदिर में आना कभी भी न भूलें।

भारत के नौ शहरों में अक्षरधाम मंदिर देखने को मिलता है उनमे से एक है दिल्ली भी एक शहर है। अक्षरधाम मंदिर स्वामी नारायण जी का मंदिर है। यहाँ आपको सनातन, संस्कृति, आध्यात्मिकता का एक अध्भुत प्रतीक देखने को मिलता है।

अक्षरधाम टेम्पल

दिल्ली में स्थित इस खूबसूरत मंदिर का नाम गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड में भी आता है। इस मंदिर की खूबसूरत नक्काशी इसकी लोकप्रियता का मुख्य कारण है।

मंदिर के दीवारों में आपको 20000 से भी अधिक हिन्दू देवी देवताओं के चित्र देखने को मिलते हैं। मंदिर आपने शानदार पादूकला के लिए काफी प्रशिद्ध है , जिसमे 8 मण्डप स्थित है। मंदिर परिसर में आपको सारे भगवान की छोटी छोटी मूर्तियाँ देखने को मिलती है।

मंदिर में घूमने के दौरान आपको किसी भी प्रकार की खाने पीने को लेकर किसी भी तरह के दिक्क्तों का सामना करना पड़ेगा क्योंकि यहाँ केंटीन की भी उत्तम व्यवस्था है।

अगर आप कुछ कीमती सामान ले कर जा रहे हैं तो यहाँ लॉकर में उन कीमती वस्तुओं को रखकर बड़े इत्मीनान से दिल्ली में घूमने की जगह अक्षर धाम मंदिर में आप घूमने फिरने का भरपूर लुप्त उठा सकते हैं।

अगर आपके पास किसी भी तरह की कोई भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है तो उन्हें मंदिर के बाहर ही रख दें क्योंकि मंदिर परिसर में उसे ले जाना सख्त है ही मना है।

नेशनल रिचर्स सेंटर दिल्ली

अगर आप बच्चों के साथ दिल्ली घूमने के लिए आ रहे हैं तो दिल्ली में घूमने की जगह नेशनल रिशर्च सेंटर दिल्ली में आपका स्वागत है। यह बच्चों के द्वारा पसंद किया जाने काफी फेमस पर्यटन स्थल है। यहाँ आपको विज्ञान से सम्बंधित बहुत कुछ सिखने को मिलता है।

नेशनल रिसर्च सेंटर दिल्ली
नेशनल रिसर्च सेंटर दिल्ली

अगर आप बच्चों के साथ आ रहे हैं तो फिर इस रिसर्च सेंटर में आने का मौका कभी भी न छोड़े , क्योंकि यहाँ आने से आपके बच्चे का काफी ज्यादा बौद्धिक विकाश होता है। बच्चों के सिखने के लिए उसके उत्साह वर्धन के लिए यहाँ बहुत कुछ है।

दिल्ली में घूमने की जगह के इस रिसर्च सेंटर में मानव जीवन गतिविधयाँ, पर्यावरण और जल संरक्षण जैसे विज्ञान के कई विषयों में बच्चे खेल खेल में ही बहुत कुछ सिख सकते हैं। साथ ही हिस्ट्री म्युसियम में 3D शो , साइंस और प्लेनेटोरिययम शो भी देखने का मौका मिलता जो की बच्चों के लिए काफी ज्ञान वर्धक होता है।

राष्ट्रीय रेल म्युसियम

यदि आप दिल्ली घूमने के लिए आ रहे हैं और भारतीय रेलवे के इतिहास के बारे जानने को इक्छुक हैं तो दिल्ली में घूमने की जगह राष्ट्रीय रेल म्युसियम में आना कभी भी न भूलें। यहाँ आपको भारतीय रेलवे के इतिहास के बारे में जानने को मिलता है। पुराने समय से लेकर अब तक रेलवे जगत में हुए बदलाव को आप यहाँ पर आसानी से देख सकते हैं।

राष्ट्रीय रेल म्यूजियम दिल्ली
राष्ट्रीय रेल म्यूजियम दिल्ली

यहाँ आपको रेल के अलग अलग इंजन और डिजाइन देखने को मिलता है। इसके अलावा यहाँ आप चलने वाली छोटी छोटी रेलगाड़ियों का भी भरपूर माजा ले सकते हैं। इनके लिए आपको थोड़ी बहुत फीस भी देनी होती है। उसके बाद आप सपरिवार आप इन छोटे ट्रेनों का मजा ले सकते हैं।

इस तरह से आपको दिल्ली में घूमने की इस जगह में रेल गाड़ियों के बारे में जानकारी और घूमने दोनों का यहाँ भरपूर मौका मिलता है।

घूमने के दौरान यदि आपको भूख का अहसास हो तो आपको यहाँ एक केंटीन की भी व्यवस्था मिलती है। जो आपके खाने पीने का खास ध्यान रखता है।

दिल्ली का प्रशिद्ध बाजार 

यदि आप दिल्ली में घूमने के लिए आ रहे हैं और यात्रा के दौरान कुछ शॉपिंग करना चाहते हैं , तो बिलकुल भी चिंता न करें क्योंकि यहाँ आपको एक से बढ़कर एक शॉपिंग मार्किट देखने को मिलते हैं। जो आपके लिए खरीदारी के लिए हर चीज का उत्तम प्रबंध करता है।

नेहरू पैलेश

नेहरू पैलेस एशिया का सबसे बड़ा इलेक्ट्रॉनिक बाजार कहा जाता है। यदि आप दिल्ली में घूमने की जगह में इलेक्ट्रॉनिक चीजों को खरीदने का शोक रखते हैं तो फिर आपका नेहरू पैलेश में स्वागत है। यहाँ आपको मोबाइल , टेबलेट और लैपटॉप जैसी चींजों को काफी काम कीमत में खरीद सकते हैं।

चांदनी चौक

अगर आप दिल्ली में सबसे बड़े होलसेल बाजार को देखना घूमना और इसके बारे में जानकारी लेना चाहते हैं , दिल्ली में घूमने की जगह चांदनी चौक में आपका स्वागत है। यहाँ आप हॉलसेल बजार की भी जानकारी ले सकते हैं और अपने व्यापर में दिन दूनी और रात चौगुनी तारीकी कर सकते हैं।

चांदनी चौक दुनियां के सबसे बड़े होलसेल व्यापर के रूप में प्रशिद्ध है। यहाँ आपको दुनिया भर की छोटी से बड़ी चीजें बड़ी आसानी है।

करोल बाग़

दिल्ली का करोल बाग़ दिल्ली में घूमने की जगह में अपने कपड़ों और इलेक्ट्रॉनिक्स के लिए काफी प्रशिद्ध है यहाँ आपको हर चीज काफी काम कीमते में मिल जाती है।

गाँधी मार्किट

अगर आप दिल्ली में घूमने की जगहों में भर्मण के दौरान आपको ढेरों कपड़े खरीदने का शौक है तो आप गाँधी मार्किट आना कभी भी न भूलें।

गाँधी मार्किट कपड़ों के होलसेल मार्किट के रूप में प्रशिद्ध है यहाँ आपको अच्छे वेराइटी के कपडे काफी कम दामों में मिल जाते हैं।

दिल्ली में खाने के लिए क्या प्रशिद्ध है ?

अगर आप दिल्ली में घूमने के लिए आ रहे हैं और खाने पीने के शौकीन हैं तो फिर यहाँ आपके खाने पीने की भी भरपूर व्यवस्था देखने को मिलता है।

चांदनी चौक की तंग गलियों के जगह जगह में आपको खाने के लिए स्ट्रीट फ़ूड के स्टॉल देखने को मिलते हैं। यहाँ आपको ज्यादातर प्रवाशी लोग देखने को मिलते हैं। यहाँ आपको दिल्ली का कोई खास भोजन देखने को नहीं मिलता है।

क्योंकि यहाँ आपको देश के अलग अलग राज्यों के लोग देखने को मिलते हैं। ठीक उसी तरह से यहाँ का भोजन आपको अलग अलग राज्यों का देखने को मिलता है। कहने का मतलब आप किसी भी राज्य या प्रदेश से आ रहे हैं। यहाँ आपके हर तरह के खाने पीने की व्यवस्था देखने को मिलती है। आपको हर राज्य का भोजन आपको यहाँ मिल जायेगा।

पराठे

क्योंकि पंजाब दिल्ली समीप है और पंजाबियों का फेवरेट भोजन पराठा है। इसलिए यदि आप पराठे के शौकीन है तो फिर यहाँ आपको पराठों की भरमार देखने को मिलती है। आलू पराठे , गोभी पराठे , फूलगोभी पराठे , मूली पराठे और भी कई तरह के पराठे आपको यहाँ देखने को मिलते हैं। यात्रा के दौरान इनका स्वाद लेना कभी भी न भूलें।

लोंगो के लिए यह पसंदीदा स्ट्रीट फ़ूड है। दिल्ली में मूलचंद पराठा काफी प्रशिद्ध है। दिल्ली की यात्रा के दौरान यदि आप मूलचंद पराठे का स्वाद न लें, तो यकीन मानिये आपका यात्रा अधूरा मन जायेगा।

निहारी

निहारी आपको जमा मस्जिद के आसपास देखने को मिलता है , इसे धीमी आंच पर पका कर तैयार किया जाता है। तंदूर रोटी के साथ खाने में यह भरपूर मजा देता है। निहारी को तंदूरी रोटी के साथ खूब पसंद किया जाता है।

छोले भटुरे

दिल्ली के स्ट्रीट फ़ूड में छोले तथा भटूरे काफी पसंद किये जाते हैं। अगर आप दिल्ली घूमने के लिए आ रहे हैं तो स्ट्रीट फ़ूड के रूप में छोले भटूरे को कभी भी न भूलें। साथ ही यहाँ आप चाट और बिरयानी का भी भरपूर मजा ले सकते हैं।

दिल्ली का फेमस स्ट्रीट चाट

दिल्ली वालों के द्वारा चाट को स्ट्रीट फ़ूड के रूप में काफी ज्यादा पसंद किया जाता है। यहाँ आपको हर गली नुक्क्ड़ में चाय की स्टॉल देखने को मिल जाती है।

यदि आप दिल्ली में सबसे अच्छी चाट को चखना चाहते हैं तो इसके लिए आपको चाँदनी चौक वाले एरिया में जाना होगा है।

दिल्ली कैसे पहुंचे ? 

क्योंकि दिल्ली भारत की राजधानी है इसलिए आप दिल्ली भारत के किसी भी राज्य शहर से सड़क मार्ग , ट्रेन मार्ग एवं हवाई मार्ग द्वारा काफी आसानी से पहुंच सकते हैं। दिल्ली भारत के प्रमुख शहर होने के साथ साथ इसकी गिनती महानगरों में भी होती है। इसलिए यह भारत के हर राज्य के प्रमुख शहरों से काफी अच्छी तरह से जुड़ी है।

सड़क मार्ग से

अगर आप सड़क मार्ग द्वारा बस का सफर करते हुए दिल्ली जाना चाहते हैं तो आपको अपने शहर से दिल्ली के लिए आसानी से बस मिल जाती है। जिसकी सहायता बिना किसी झंझट के दिल्ली की यात्रा कर सकते हैं। और यदि आप अपनी खुद की गाड़ी से दिल्ली का सफर करना चाहते हैं तो वह भी आप बड़े ही इत्मीनान से कर सकते हैं। दिल्ली भारत की राजधानी होने की वजह से हर राज्य के प्रमुख शहर से हाइवे नेटवर्क द्वारा काफी अच्छी तरह से कनेक्टेड है।

ट्रेन से

आप भारत के किसी भी राज्य या शहर से ट्रेन के माध्यम से दिल्ली बड़े ही आराम से पहुँच सकते हैं। क्योंकि यह भारत के प्रत्येक राज्य में अपने रेलवे की काफी अच्छी सुविधा देता है। यहाँ आपको 4 रेलवे स्टेशन देखने को मिलते हैं आनंद विहार रेलवे स्टेशन, नई दिल्ली रेलवे स्टेशन, पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन और हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन। आपको अपने शहर से जो भी रेलवे स्टेशन अच्छा लगे उसके लिए टिकट बुक कर सकते हैं।

स्टेशन पहुँचते ही आगे की यात्रा आप अपने टैक्सी से कर सकते हैं।

हवाई मार्ग से

दिल्ली का प्रमुख हवाई इंदिरा गाँधी अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डा है। इस हवाई अड्डा का नाम भारत के सबसे बड़े हवाई अड्डे में आता है। अगर आप घरेलु उड़ान के लिए Flight चाहते हैं तो आपको टर्मिनल 1D में जाना होता है और अगर आप International Flight लेना चाहते है तो आपको टर्मिनल 3 में जाना होता है।

आगे की यात्रा आप हवाई अड्डे के बाहर लगे टैक्सी से बड़ी ही आसानी से कर सकते हैं।

दिल्ली जाने का  सबसे  अच्छा समय 

वैसे तो दिल्ली में घूमने की जगह में पर्यटक सालों भर आते जाते रहते हैं। बच्चों के लिए यह गर्मियों का समय सबसे अच्छा होता है क्योंकि गर्मियों के समय में उसका गर्मी छूटी होता है।

लेकिन पर्यटकों के लिए दिल्ली में घूमने के लिए सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च के बीच माना जाता है , क्योंकि इस समय सर्दियों का मौसम होता है और इस समय यहाँ का मौसम काफी सुहावना होता है। पर्यटकों को इस समय में घूमने में किसी भी तरह के परेशानी का सामना करना नहीं पड़ता है।

दिल्ली में कहाँ रुके ? 

क्योंकि दिल्ली में घूमने की जगह की कोई कमी नहीं इसलिए यहाँ सस्ते और महंगे हर तरह के होटल देखने को मिल जाते हैं। आप अपने बजट के अनुसार किसी भी तरह के होटल को सलेक्ट कर सकते हैं।

होटल को बुक करने की सुविधा आपको ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों तरह से मिल जाते हैं। जो भी आपको अच्छा लगे आप अपने लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

दिल्ली की प्रशिद्ध जगह

वैसे तो दिल्ली में घूमने की जगह में सारे पर्यटन स्थल काफी प्रशिद्ध हैं। लेकिन यहाँ के इलेक्ट्रॉनिक बाजार की प्रशिद्धि पुरे देश में कुछ खास है। यहाँ आप काफी कम बजट में इलेक्ट्रॉनिक सामानों की खरीदारी कर सकते हैं।

अगर आप कम दामों में इलेक्ट्रॉनिक सामान की खरीदारी करना चाहते हैं तो दिल्ली के सदर बाजार में स्थित इस इलेक्ट्रॉनिक बाजार आने का मौका कभी भी न छोड़े। दिल्ली के इस प्रशिद्ध बाजार का नाम देश के सबसे बड़े बाजारों में से आता है।

दिल्ली कैसे घूमे ?

दिल्ली में घूमने की जगह सारे पर्यटन स्थल और दर्शनीय स्थलों का पैदल ही भर्मण करना नामुमकिन है। इसके लिए आप यहाँ बस , टैक्सी और कैब का इस्तेमाल कर सकते हैं। पर्यटक दिल्ली को घूमने के लिए लोकल बस का भी इस्तेमाल करते हैं।

अगर आप इससे भी सस्ते में पुरे दिल्ली को घूमना चाहते हैं तो फिर आपको मेट्रो का इस्तेमाल कर सकते हैं , जिसके मदद से आप काफी सस्ते में पुरे दिल्ली में घूमने की जगह का भर्मण कर सकते हैं।

दिल्ली घूमने में कितना खर्चा आएगा

क्योंकि दिल्ली भारत की राजधानी है और दिल्ली के नाम भारत के प्रमुख शहरों में आता है। अगर बात करें दिल्ली में घूमने की जगह की भर्मण की तो , यहाँ आपको अन्य शहरों की तुलना में दिल्ली में भर्मण करना काफी महंगा पड़ेगा , क्योंकि दिल्ली अन्य शहरों की तुलना में काफी महंगा शहर है।

10 से 15 हजार रूपये में आप दिल्ली में घूमने के सारी पर्यटन स्थलों को असनी से घूमने सकते हैं। दिल्ली घूमने के लिए आप प्राइवेट बसों की भी सहायता ले सकते हैं।  

दिल्ली घूमते  वक्त साथ में क्या  रखे 

यह आप पर निर्भर करता है की दिल्ली में घूमने की जगह का भर्मण करते समय साथ में क्या रखे है। यह इस बात पर निर्भर क करता है की आप किस मौसम में यहाँ घूमने के लिए आ रहे हैं। यदि आप गर्मीयों के समय में यहाँ घूमने के लिए आ रहे हैं तो अपने साथ सन क्रीम , हैट तथा सन गलासेस को अपने साथ रखना न भूलने।

लेकिन यदि आप ठंडी के समय में यहाँ आते हैं तो इस समय अपने साथ गर्म कपड़ों को अपने साथ रखना कभी भी न भूलें। इन सब के आलावा आपके पास खुद का पहचान पत्र , स्मार्ट फोन और अच्छा कैमरा होना बहुत ही ज्यादा जरुरी है जो की आपके यात्रा को यादगार बनाने में आपकी मदद करता है।

 निष्कर्ष 

इस लेख में आपको दिल्ली में घूमने की जगह से सम्बंधित सारे पर्यटक स्थलों के बारे में जानकारी मिलती है , कब घूमना चाहिए , कैसे घूमना चाहिए , रुकने लिए कोन सा जगह सर्वोत्तम है और घूमने के दौरान कितने रुपये खर्च करने होते हैं। इन सारी चीजों की जानकारी आपको इस लेख में आसानी से मिल जाती है।

अगर आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो तो फिर इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिलकुल भी न भूलें और अगर आपके पास कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट सेक्शन में पूछना बिलकुल भी न भूलें , आपकी हर संभव मदद की जाएगी।

FAQ 

दिल्ली में सबसे ज्यादा फेमस चीज क्या है ?

दिल्ली में सबसे ज्यादा फेमस इण्डिया गेट , राजपथ, क़ुतुब मीनार, लाल किला जैसे ऐतिहासक स्मारक है।

दिल्ली का सबसे ज्यादा खूबसूरत इलाका कोन सा है ?

दिल्ली का सबसे ज्यादा खूबसूरत इलाका ग्रेटर कैलाश और वसंत कुंज है।

दिल्ली किस लिए प्रशिद्ध है ?

नई दिल्ली भारत के राष्ट्रीय सरकार के स्थान के रूप में प्रशिद्ध है। यह पांडवों और मुगलों जैसे शक्तिशाली राजाओं का केंद्र हुआ करता था।

दिल्ली को सबसे अच्छी क्यों माना जाता है ?

दिल्ली को इसके समृद्ध इतिहास के कारन ही सबसे अच्छा माना जाता है।

दिल्ली का सबसे महंगा इलाका कौन सा है ?

दिल्ली का सबसे महंगा इलाका ग्रेटर कैलाश है।

दिल्ली का नजदीकी हिल स्टेशन कोन सा है ?

शिमला , हिमाचल प्रदेश दिल्ली का नजदकी हिल स्टेशन है।

Leave a comment