20+ जयपुर में घूमने की जगह, जाने का समय और खर्चा

इस लेख में आप जयपुर में घूमने की जगह( jaipur me ghumne ki jagah) में सारे पर्यटन स्थल के जानने को मिलेगा। साथ ही जयपुर में जाने का सही समय कब जाएँ कैसे जाएँ कहा रुकें इन सारी चींजों की जानकारी इस लेख में आसानी से मिल जाएगी।

राजस्थान में स्थित जयपुर जो की राजस्थान की राजधानी यह अपने पर्यटन स्थलों के करना काफी प्रशिद्ध है। जयपुर अपने राजशी इमारतों किलों और महलों को लेकर सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पुरे देश में प्रशिद्ध है। यहाँ की ज्यादातर घरें गुलाबी रंग की होती है जिस कारण से इसे गुलाबी शहर के नाम से जाना जाता है।

जयपुर में घूमने की जगह , जाने का समय और खर्चा

यदि आप जयपुर में घूमने की जगह में यहाँ के इतिहास और संस्कृति के बारे में जानना चाहते हैं तो फिर जयपुर के सिटी पैलेस में आपका स्वागत है। फिरंगियों के लिए मुख्य आकर्षण केंद्र यहाँ एक भूल भुलैया है.

राजस्थान की राजधनी जयपुर को उनेस्को के विश्व धरोहर स्थल में शामिल किया गया है , क्योंकि यह भारत में सबसे ज्यादा देखे जाने वाले शहरों में से एक है। प्रत्येक साल जयपुर में घूमने की जगह में लाखों की सांख्य में पर्यटक यहाँ के भोजन स्मारक संस्कृति को देखने के लिए आते हैं। यह गुलाबी शहर शानदार खरीदारी के लिए भी काफी ज्यादा प्रशिद्ध है।

Contents

जयपुर से संबंधित रोचक तथ्य

  • भारत में जिस समय इस शहर को बसाया गया था , भारत का यह पहला शहर था जिसे योजनाबद्ध तरीके से बसाया गया था। इस शहर का वास्तुशिल्पी भट्टाचार्य के द्वारा निर्माण कराया गया था।
  • जयपुर में अधिकांश इमारते आपको गुलाबी रंग की देखने को मिलती है , जिस कारण से इस गुलाबी शहर या गुलाबी नगरी के नाम से जाना जाता है। गुलाबी रंग को मेहमानो के स्वागत का प्रतीक मन जाता है। 1876 में यहाँ के महाराजा ने पुरे जयपुर की इमारतों को गुलाबी रंग रंगवाया था ,क्योंकि उस समय यहाँ प्रिंस आफ वेल्स जयपुर आ रहे थे।
  • जयपुर में घूमने की जगह में नाहरगढ़ नाम का एक किला है जिसकी मदद से आप पुरे जयपुर शहर को देख सकते हैं। इसका निर्माण 1734 ईस्वी में करवाया गया था। इसी जगह पर “शुद्ध देशी रोमांस” और “रंग दे बसंती जैसे” जैसे फिल्मों की शूटिंग हुए थी।
  • जयपुर में घूमने की जगह में आपको एक चिड़ियाँ घर देखने को मिलता है , जिसका निर्माण 1877 मे कराया गया था। इसे 2 भागों में बांटा गया है। पहला जो की जयपुर में है जहाँ पर सिर्फ पंक्षियों को रखा जाता है। दूसरा जो की आमेर स्थित है जहाँ सिर्फ पशुओं को रखा जाता है।
  • जयपुर शहर की स्थापना महाराजा सवाई सिंह द्वितीय ने 18नवम्बर 1727 ईस्वी को करवाया था।
  • जयपुर में घूमने की जगह में सिटी पैलेस का भी नाम आता है। जहाँ आपको काफी कुछ देखने को मिलता है जैसे दीवान-ऐ-खास, दीवाने-ऐ-आम, बगीचा, आँगन, म्युसियम और भी काफी कुछ।
  • जयपुर में घूमने की जगह में विश्व के सबसे बड़ी वेधशाला के रूप में प्रशिद्ध है , इसके निर्माण का श्रेय इसके महाराजा जय सिंह द्वितीय जाता है। इसका उपयोग नक्षत्रों तथा सितारों के गतिविधियों का पता लगाने के लगाने के लिए किया जाता है।
  • जयपुर में घूमने की जगह में हवा महल का नाम सबसे प्रशिद्ध दर्शनीय स्थल में आता है। इसका निर्माण 1799 में महाराजा सवाई सिंह ने करवाया था। यहाँ आपको कुल 953 खिड़कियाँ देखने को मिलती है। इन खिड़कियों से ठंडी ठंडी हवा चलने की कारण “पैलेश ऑफ़ विंड्स” के नाम से भी जाना जाता है।

जयपुर में घूमने की जगह (Jaipur Me Ghumne ki Jagah)

जयपुर की फेमस नाइटलाइफ – Famous Nightlife of Jaipur In Hindi

राजस्थान के जयपुर में दिन के समय में पर्यटन स्थलों और दर्शनीय स्थलों में में घूमने के बाद भी अगर आप का मन न भरा हो तो फिर रात के समय जयपुर में घूमने की जगह यहाँ नाइटलाइफ़ में आपका स्वागत है।

जयपुर में दिन के समय में पर्यटन स्थलों में घूमना जितना खूबसूरत लगता है उससे भी ज्यादा खूबसूरत यहाँ रात के समय में घूमने में लगता है। यहाँ बहुत सारे होटलों तथा रेसटोरेंट में शानदार नाईट व्यू की भी व्यवस्था होती है।

जयपुर में घूमने की इन जगहों में आप काफी कुछ कर सकते हैंजैसे बेहतरीन खाने का स्वाद , ब्रांडेड शराब का और लाउजिंग का भरपूर मजा ले सकते हैं।

जयपुर में घूमने की जगह में कुछ प्रशिद्ध नाइटलाइफ़ के नाम इस प्रकार है जो की जो आपकी रंगीन रात को और भी बेहतरीन बना देती है

  • एफ बार और लाउंज
  • क्लब नैला- नैला बाग
  • बार पल्लाडियो
  • लोंगो का घर
  • ब्लेकऑउट क्लब और टेरेस
  • ता ब्लू – होटल क्लाकर्स आमेर
  • रिप्ले द्वारा स्काईफॉल

जयपुर का बिरला मंदिर – Famous Temples of jaipur Birla Mandir in Hindi

बिरला मंदिर जयपुर में घूमने की जगह में सबसे प्रशिद्ध मंदिर में से एक है , इस मंदिर को लक्ष्मी मंदिर भी कहा जाता है। बिरला मंदिर की स्थापना 1988 में की गयी थी इसे बनाने के लिए सफ़ेद संगमरमर का इस्तेमाल किया गया है और आपको यह मंदिर मोती डोंगरी के पास देखने को मिलता है।

Birla-Mandir-Jaipur
Source : Birla-Mandir-Jaipur

इस मंदिर में आपको अद्भुत वास्तुकला देखने को मिलता है साथ ही इस मंदिर के दीवारों पर जटिल नक्काशी और डिजाइन को मिलती है। मंदिर स्थित तीन विशाल गुंबद रात्रि के समय देखने में इसकी खूबसूरती अध्भुत लगती है। अगर आप मंदिर के अंदर जाते हैं तो आपको भगवान विष्णु और लक्ष्मी की मूर्ति देखने को मिलती है।

इसे भी पढ़े

जयपुर का फेमस रामनिवास उद्यान – Famouse Ramnivash Udhan Of Jaipur Hindi

जयपुर में घूमने की जगह में राम निवास उद्यान काफी प्रशिद्ध जगह है। इसे बनवाने का श्रेय जयपुर के राजा साईं राम सिंह को जाता है , जिन्होंने इसे 1767 में बनवाया था।

30 एकड़ में फैला यह उद्यान जयपुर में घूमने की जगह में यह शाही गार्डन देश विदेश के पर्यटकों को काफी भरी संख्या में आकर्षित करता है। यदि आप जयपुर में घूमने का प्लान बना रहे हैं तो इस गार्डन में आना कभी भी न भूलें। यह अपनी खुबसुरती और पिकनिक स्पॉट के लिए अपनी विशेष पहचान रखता है।

Ram Nivas Udhyan
Source :Ram Nivas Udhyan

क्योंकि जयपुर में घूमने की जगह में यह राम उद्यान शाही उद्यान के रूप में जाना जाता है। इसलिए यहाँ आपको कुछ प्रवेश शुल्क देना होता है। अगर आप भारतीय है तो सिर्फ 10 रूपये देने होते है और अगर आप विदेशी है तो फिर आपको 100 रूपये देना होता है।

इसे भी पढ़े

यहाँ आप सप्ताह के सातों दिन तक आ सकते हैं। उद्यान के खुलने का समय सुबह 8:30 बजे और शाम को 5:30 बजे होता है। लेकिन रविवार और गर्मियों के दिनों में यह 9:00 बजे खुलता है और शाम को 5 : 00 बजे बंद होता है।

जयपुर का फेमस खाटू श्याम मंदिर – Famouse Khatu Shyam Mandir Of Jaipur In Hindi

राजस्थान में जयपुर में घूमने की जगह में भगवान श्री कृष्ण के मंदिर की बात करें तो इस खाटू श्याम मंदिर सबसे ज्यादा प्रशिद्ध है। खाटूश्याम इस मंदिर को महाभारत काल में बनवाया गया था। खाटू श्याम के रूप में यहाँ आप भगवान श्री कृष्ण के दर्शन कर सकते हैं। यह राजस्थान के सीकर में स्थित है , इसे भगवान कृष्ण के सबसे प्रशिद्ध मंदिरों में से जाना जाता है।

Khatu Shyam Mandir
Source : Khatu Shyam Mandir

खाटू श्याम के भक्तों की मान्यता है की यदि आप बाबा खाटू श्याम से कुछ भी मांगते एक बार मांगते है तो उसे वह आपने भक्तों को बार बार लाखों करोडो बार देते हैं , इसलिए यह लखदातार के नाम से प्रशिद्ध है। खाटू श्याम को भगवान श्री कृष्ण के द्वारा वरदान दिया गया था , कलयुग उसे भगवान श्री कृष्ण के नाम से पूजा जायेगा।

सालाना यहाँ 40 लाख भक्त दर्शन के लिए आते हैं जिसमे देशी विदेशी दोनों भक्त शामिल होते हैं। यहाँ आप फरवरी और मार्च के महीनो में भव्य मेले को देख सकते हैं।

रेलवे स्टेशन से खाटूश्याम की दुरी मात्र 80 किलोमीटर है यहाँ आप बस या कैब को बुक करके आसानी से पहुँच सकते हैं।

जयपुर का फेमस जयगढ़ किला – Nahargarh Fort in Jaipur in Hindi

जयगढ़ किला जयपुर में घूमने की जगह में प्रशिद्ध किले के रूप में जाना है। जयगढ़ के शाब्दिक अर्थ होता है जय की जगह , यह किला जयपुर के चील का तेल पहाड़ियों में बसा हुआ है।

इसका निर्माण महाराजा सवाई सिंह द्वितीय ने 1726 ने करवाया था , इस मंदिर की संरचना बहुत ही खूबसूरत ढंग से करवाया गया था। यह अरावली की पहाड़ियों में स्थित है और आमिर को सुरक्षा प्रदान करता है। साथ ही यहाँ से आप पुरे गलबी शहर के खूबसूरत नजारा को देख सकते हैं।

इस किले का निर्माण विशेष रूप से यहाँ के राजाओं ने अपने सैनिकों को दुश्मनों से बचने के लिए किया था। इस किले में 3 किलोमीटर लम्बी तोप फाउंड्री, वॉच टावर और किलेबंदी दीवारों के प्रभाव शाली रक्षा तंत्रों के कारण यह काफी प्रशिद्ध है।

 Jaigarh fort
Source :  Jaigarh fort

यहाँ आपको दुनियां के सबसे बड़ी तोप देखने को मिलती है जिसका वजन 50 टन है। इसलिए जयपुर में घूमने की जगह में यह किला जयपुर के प्रशिद्ध पर्यटन स्थलों के रूप में जाना जाता है।

यहाँ आने वाले पर्यटक यहाँ की दीवारों यहाँ की अंदर की महलों , मंदिरों तथा बगीचों का भरपूर मजा लेते हैं।

जयगढ़ किले में आपको एक संग्राहलय भी देखने को मिलता है यहाँ आप युद्धों के दौरान इस्तेमाल किये गए हथियारों प्राचीन कल की संस्कृतियों को देखने का मौका मिलता है।

यह रेलवे स्टेशन से मात्र 10 किलोमीटर की दुरी पर है जहाँ आप कैब या बस के माध्यम से आसानी से पहुँच सकते हैं।

जयपुर का फेमस आमेर का किला – Famouse Aamer Kila Of Jaipur In Hindi

जयपुर में घूमने की जगह में यह आमेर किला का नाम प्रशिद्ध किले में आता है। इस किले को आप अरावली की पहाड़ियों देख सकते हैं क्योंकिआमेर का किला इसी पहाड़ी में स्थित है। आमेर का किले के प्रशिद्धि का मुख्य कारण यहाँ की वस्तुकला और इतिहास है।

यदि आप जयपुर आ रहे हैं तो फिर इस किले में आना बिलकुल भी न भूलें कयोंकि जयपुर में घूमने की जगह में यह किले का नाम काफी प्रशिद्ध है। इस किले में रोजाना 5000 से अधिक लोग पर्यटन के लिए आते हैं।

Amer Fort
Source : Amer Fort

इस किले में आपको मुगलकालीन गार्डन, शीश महल और सुख मंदिर अद्भुत कारीगरी देखने को मिलता है जो की पर्यटकों का मुख्य आकर्षण का केंद्र है।

आमेर किले में पर्यटकों के लिए सबसे बड़ा आकर्षण का केंद्र है यहाँ का शीश महल। इस शीश महल को बनवाते समय इसके दीवारों और छातों पर शीशों को इतने बारीक़ तरीके से इस्तेमाल किया गया है की रात में लाइट शुरू होती है तो यह बिलकुल तारा मंडल की तरह लगता है। इसमें जो कांच के शीशे का इस्तेमाल हुआ है उसे बेल्जियम से मंगाया गया था।

सुख मंदिर का निर्माण गार्डन के दूसरी तरफ कराया गया है , यहाँ हमेशा वातावरण प्राकृतिक वातनुकूलित होता है।

जयपुर से आमेर किले की दुरी मात्र 12 किलोमीटर की है। इस किले को बनवाने में पीले और गुलाबी बलुवा पत्थर इस्तेमाल किया जाता है।

जयपुर का फेमस जल महल – Famouse Jal Mahal Of Jaipur In Hindi

जल महल जयपुर में घूमने की जगह में शहर के सबसे प्रशिद्ध पर्यटन स्थल के रूप में जाना जाता है। इस पर्यटन स्थल की खूबसूरती के दीवाने सिर्फ देशी ही नहीं बल्कि विदेशी लोग भी है। इस प्रशिद्ध झील जल महल का निर्माण झील के बींचों बीच कराया गया है।

jal mahal jaipur
Source : Jal mahal jaipur

जल महल की पांच मंजिल आंशिक रूप से जल में डूबी रहती है , देखने में ऐसा लगता है जैसा की यह महल झील पर तैर रही हो। यहाँ के आस पास की पहाड़ियों और पहाड़ो का नजारा इसे और भी खूबसूरत बना देता है। यह जल महल की पांच मंजिले आपको जल में तैरती हुई नजर आती है। यहाँ का आस पास माहौल पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है।

यहाँ पर पर्यटक इस महल के आंतरिक भाग को एक्सलरे करने में काफी उत्साहित नजर आते हैं। इसके महल के छत पर आपको एक गार्डन देखने को मिलते हैं जिसके माध्यम से आप शहर के मनोरम दृश्य को देख सकते हैं।

यहाँ आपको बिलकुल शांति का अनुभव होता है , झील में आप नौकायन का भी मजा ले सकते हैं। आप यहाँ फोटोग्राफी के शोक को भी पूरा कर सकते हैं।

यह शहर से मात्र 20 किलोमीटर की दुरी में स्थित है , जहाँ आप बस , ऑटो रिक्शा या कैब की सहायता से आसानी से पहुँच सकते हैं।

जयपुर का फेमस जंतर मंतर – jaipur me ghumne ki jagah Jantar Mantar in Hindi

जयपुर में घूमने की जगह जंतर मंतर काफी प्रशिद्ध पर्यटन स्थल है जो की हवा महल से कुछ दुरी पर स्थित है जयपुर की खूबसूरत जगहों में से एक है और यह सिर्फ खूबसूरत दर्शनीय स्थल ही नहीं है बल्कि यह एक टाइम मशीन भी है पुराने ज़माने में इसका इस्तेमाल समय की जानकारी लेने के लिए किया जाता था।

यहाँ आपको 19 उपकरण देखने को मिलते हैं इन उपकरणों का इस्तेमाल ग्रहों तथा ग्रहण की भविष्यवाणी करने के लिए, समय का पता लगाने और सितारों को ट्रेक करने के लिए किया जाता था। जंतर मंतर का निर्माण महाराजा सवाई सिंह द्वितीय ने 17वी शताब्दी के शुरुवाती दिनों में करवाया था।

Jantar Mantar Jaipur
Source: Jantar Mantar Jaipur

जंतर मंतर परिसर में आपको कुछ यंत्र देखने को मिलेंगे। इनमे से विश्वप्रशिद्ध खगोलीय उपकरण सम्राट यंत्र है जो की का एक तरह का विशाल धुप घड़ी है , यह सिर्फ २ सेकेंड की त्रुटि मार्जिन के साथ बिलकुल सही समय दिखता है। यहाँ आपको और एक उपकरण देखने को मिलता है जिसका नाम है राम यंत्र और इसका उपयोग आकाशीय पिंडों की ऊंचाई और दिगंश को मापने में इस्तेमाल होता है।

जयपुर का फेमस हवा महल

जयपुर में घूमने की जगह में एक और प्रशिद्ध पर्यटन स्थल और दर्शनीय स्थल हवा महल है , जो की पर्यटकों को बहुत ज्यादा आकर्षित करता है। यह महल शहर के बीचों बिच स्थित है .

हवामहल को जयपुर के महाराजा सवाई सिंह ने बनवाया 1799 में बनवाया था। हवा महल 5 मंजिली इमारत है जो की बिना किसी नीव पे तिकी हुई है। हवामहल अपनी अनूठी वास्तुकला और अद्भुत डिजाइन के पर्यटकों के बीच काफी ज्यादा आकर्षण का केंद्र है।

हवा महल में 953 खिड़कियां देखने को मिलती है जिसके कारण यहाँ गर्मियों के दिन में भी काफी ठंडी हवा चलती चलती है और भी यहाँ इस इमारत में आपको बहुत सारी विशेशताएँ देखने को मिलती है। अगर आप जयपुर में लिए आ रहे हैं तो जयपुर में घूमने की जगह में इस अप्रशिद्ध पर्यटन स्थल का भर्मण करना बिलकुल भी न भूलें।

जयपुर का फेमस गलताजी मंदिर – Famouse Galtaji Mandir Of Jaipur In Hindi

गलताजी मंदिर जयपुर में घूमने की जगह में सबसे प्रशिद्ध धार्मिक स्थल के रूप में जाना जाता है। यह सिसोदिया गार्डन के पास पहाड़ी की छोटी पर स्थित है।

गलताजी मंदिर को बंदर के मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। इस मंदिर में आपको काफी संख्या में बंदर देखने को मिलते हैं।

Galataji
Source : Galataji

मंदिर के परिसर में आपको कई देवताओं के मंदिर देखने को मिलते हैं यहाँ आपको एक पवित्र जल कुंड भी देखने को मिलता है। यहाँ भक्तगण डुबकी लगा करके अपने पाप को धुलते हैं इसी कारण से यह परिसर पुरे भारत में पर्यटकों को काफी ज्यादा आकर्षित करते हैं।

यदि आप धार्मिक प्रवृति के हैं तो जयपुर में घूमने की जगह में यह मंदिर आपके लिए सबसे बेस्ट विकल्प है। यहाँ की मान्यता यही की इस कुंड में आने अवले प्राकृतक झरनों के कारण इस कुंड में जो पानी आता है उसमे औषधीय गुण होता है , हिन्दुओं के लिए यह काफी शुभ मन जाता है।

जयपुर का फेमस नाहरगढ़ किला – Nahargarh Fort in Jaipur in Hindi

इस किले का निर्माण गर्मी से बचने के लिए सवाई सिंह ने 1734 ईस्वी में करवाया था। 1857 की क्रांति के समय में यहाँ पर बहुत सारे यूरोपीय लोग आके ठहरे थे। 1868 में राम सिंह ने पुनः इस किले का निर्माण करवाया था।

राजा जय सिंह ने इस किले का निर्माण अपनी रानियों के लिए करवाया था , लेकिन राजा के मौत के बाद इस किले को भूतिया किले के नाम से जाना जाने लगा। इस किले में 2 फिल्मे शुद्ध देसी रोमांस और रंग दे बसंती की शूटिंग हुए थी।

Nahargarh Fort
Source : Nahargarh Fort

इस किले का खुलने का समय सुबह 10 बजे और बंद होने का समय शाम का 5:30 बजे होता है। इस किले में इंडियन के लिए प्रवेश शुल्क मात्र 20 रुपया है और विदेशी पर्यटकों के लिए 200 रुपया है।

जयपुर में घूमने की जगह में भूतिया किले के रूप में प्रशिद्ध नाहरगढ़ की दुरी मात्र 20 किलोमीटर है आप यहाँ तक बस, कैब या टैक्सी के माध्यम से आसानी से पहुँच सकते हैं।

जयपुर का भूतेश्वर नाथ मंदिर – Bhuteshwar Nath Temple Of Jaipur In Hindi

जयपुर में घूमने की जगह में भूतेश्वर मंदिर हिन्दू धर्म के लोगों के लिए प्रशिद्ध मंदिर है , यह मंदिर आपको विधायक नगर में देखने को मिलता है। इस मंदिर का निर्माण शिवलिंग की भूमि पर हुई थी।

इस भूतेश्वर मंदिर के पीछे एक दिलचस्प कहानी है ग्रामीणों के अनुसार 30 वर्ष पहले यहाँ कुछ चरवाहा गाय चराने के लिए आते थे। गाय चराने के दौरान उसे एक बैल के हुंकारने की आवाज की आवाज सुनाई दी थी। सामने जा कर देखा तो वहाँ कोई किला नहीं था, वहाँ पर एक टीला था। ग्रामीणों ने इसे भगवान शिव का स्वरुप समझ कर पूजा अर्चना करना शुरू कर दिया था।

Bhuteshwar Mahadev Mandir
Bhuteshwar Mahadev Mandir

भगवान शिव को भूतनाथ भी कहा जाता है क्योंकि भगवान शिव भूतों के स्वामी के रूप में प्रशिद्ध है। कहा जाता है रात के समय में भगवान शिव की पूजा करने के लिए भूतों और प्रेतों का जमावड़ा लगा रहता है। इसलिए इसे भूतेश्वर मंदिर भी कहते हैं।

महाशिवरात्रि और श्रावण के महीनों में यहाँ पर भक्तों का ताँता लगा रहता है। यदि आप भगवान शिव के भक्त हैं और जयपुर में घूमने के लिए आ रहे हैं तो फिर आप खुद को यहाँ आने से बिलकुल भी नहीं रोक सकते हैं।

जयपुर में किए जाने वाले मनोरंजन गतिविधियां

हॉट एयर बलून राइड

जयपुर में घूमने की जगह को यदि आप असामान की ऊंचाई से उड़ते हुए और घूमते हुए देखना चाहते हैं तो फिर आप एयर बलून की सवारी का आनंद लेना कभी भी न भूलें। जयपुर में रोमामंचक गतिविधओं के लिए यह काफी प्रशिद्ध है।

हाथी की सवारी

जयपुर में घूमने की जगह अमर पैलेश में हाँथी की सवारी काफी ज्यादा पसंद की जाती है , यहाँ आपको ज्यादातर पर्यटक हाँथी की सवारी करते दिख जायेंगे। यदि आप जयपुर की घूमने का मजा हाँथी पर बैठ कर लेना चाहते हैं तो फिर यहाँ आपका स्वागत है।

जयपुर बाज़ार से खरीददारी

कोई भी यात्री किसी भी शहर में यात्रा करने के लिए जाता है तो खरीदार करने के लिए नहीं भूलता है। यदि आप खरीदारी के शौकीन हैं तो फिर इन बजारों में विजिट करना बिलकुल भी न भूलें

जोहरी बाजार, राजस्थली, एम आई रोड, बारी, नेहरू बाजार और बापू बाजार।

लाइट एंड साउंड शो एम्बर फोर्ट

यहाँ आप जयपुर में घूमने की जगह अमर ज्योति के अलावा एम्बर फोर्ट में पैलेश में भी लाइट एंड साउंड शो का मजा ले सकते हैं। इस शो में राजस्थान के लोक संगीत के महारथी अपनी कला का प्रदर्शन करे हैं।

इस शो के आयोजन का टाइम शाम को 6से 7 बजे के बीच शुरू होकर रात के 8: 30 बजे तक चलती है।

लाइट एंड साउंड शो एट अमर जवान ज्योति

जयपुर में घूमने की जगह में अमर जवान के लाइट एंड साउंड शो का आनंद ले सकते हैं यहाँ आप शो में राजस्थानी सैनिकों के वीरता को देख सकते हैं।

जयपुर में खाने के लिए क्या फेमस है?

राजस्थान का जयपुर सिर्फ जयपुर में घूमने की जगह के लिए प्रशिद्ध नहीं है ब्लकि यह अपने स्वादिस्ट भोजन के लिए भी देश विदेश में जाना जाता है उनमे से कुछ व्यंजन के नाम इस प्रकार से हैं – दालबाटी चूरमा , प्याज कचौड़ी , घेवर, चावला और नन्द के गोलगप्पे , मशाला चाय , पाव भाजी, कैर- सांगरी, लस्सी और शाही थाली।

जयपुर में रुकने की जगह

क्योंकि राजस्थान के जयपुर में घूमने की जगहों में पर्यटन स्थलों की कोई कमी नहीं है इसलिए यहाँ आपको रुकने के लिए एक से बढ़कर एक होटल देखने को मिलते हैं। आपको सस्ता और महंगा दोने तरह के होटल देखने को मिलते हैं आप अपने बजट के हिसाब से जो भी अच्छा लगे उसे चुन सकते हैं।

अगर आप सस्ते में रुकना चाहते हैं तो फिर आप यहाँ के आश्रम में रुक सकते हैं। यहाँ आप काम किराये में काफी अच्छा रुकने का जुगाड़ कर सकते हैं।

जयपुर घूमने के लिए सबसे अच्छा समय (Best Time to Visit Jaipur)

जयपुर में घूमने के लिए सबसे अच्छा समय सर्दियों का समय होता है क्योंकि इस समय में यहाँ का मौसम सुहावना होता है जो की घूमने के लिए काफी सही होता है। गर्मियों में यहाँ का सबसे मौसम घूमने के लिए सही नहीं होता है, क्योंकि गर्मियों में यहाँ रजस्थान में अन्य जगहों की तुलना में काफी ज्यादा गर्मी होती है।

इसलिए अक्टूबर से मार्च का महीना घूमने के लिए बिलकुल सही होता है। यदि आप हाँथी महोत्सव का मजा लेना चाहते हैं तो फिर यहाँ आपको होली के ठीक एक दिन पहले आना होता है।

जयपुर कैसे पहुंचे?

दिल्ली से जयपुर कैसे जाएं

आपको दिल्ली से जयपुर जाने के लिए काफी सारी ऐसी तथा नॉन ऐसी बस सिंपल तथा लग्जरी बस मिल जाती है , जो आपको 7से 8 घंटे में जयपुर पहुंचा देती है। आप अपने बजट और पसंद के हिसाब से बस चुन सकते हैं।

इसके अलावा आप फ्लाइट के माध्यम से आसानी से आ सकते हैं।

जयपुर कैसे घूमे?

जयपुर पहुंचते है जयपुर में घूमने की जगहों तक जाने के लिए आपको लोकल बस या कैब बुक करना होता है। यदि आप अकेले है या फिर ग्रुप में अपने दोस्तों के साथ घूमने के लिए आये है तो जयपुर में घूमने के यहाँ की लोकल बस आपके लिए बेस्ट विकल्प है। इसमें आपके पैसे भी काम खर्च होते हैं। लेकिन यदि आप अपने परिवार वालों के साथ यहाँ घूमने के लिए आते हैं तो फिर आपके लिए कैब बुक करना ही सही रहता है।

जयपुर घूमने में कितना खर्चा आएगा?

वैसे तो कहा जाता है की जयपुर में घूमने की जगह को एक्स्प्लोर करना काफी महंगा सौदा होता है ,लेकिन यदि आप एक अच्छा प्लान करें तो 5000 रूपये में आप पुरे जयपुर शहर को काफी अच्छी तरह से घूम सकते है और मजा भी कर सकते हैं।

साथ में क्या रखें?

अगर आप सर्दियों के मौसम में आ रहे हैं तो फिर आप अपने साथ ठंडी के कपड़ो को साथ रखना कभी भी न भूलें। साथ है आपना पहचान पत्र , कुछ रूपये और एटीएम जैसे जरुरी चीजों को अपने साथ जरूर रखें

निष्कर्ष

भारत के जयपुर में घूमने की जगह में अद्भुत पर्यटन स्थल देखने को मिलते हैं। यहाँ आप सभी तरह के पर्यटन स्थल हवा महल जल महल , शाही स्मारक तथा जीवंत बाजार भी देख सकते हैं। साथ ही यहाँ आप साहसिक गतिविधियों का भी मजा ले सकते हैं।

इस लेख के माध्यम से आप जयपुर में घूमने की जगह के रूप में काफी सारे प्रशिद्ध और प्रमुख पर्यटन स्थलों के बारे में जानेंगे , साथ ही कब जाएँ, कैसे जाएँ, जयपुर में कैसे घूमने , जयपुर में आप किस तरह के गतिविधियों का आनंद ले सकते हैं घूमने के कौन सा मौसम सही रहता है इन साडी चीजों की जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिलकुल भी न भूलें और जयपुर में घूमने की जगह से सम्बंधित किसी भी तरह का कोई भी सवाल यदि आप के मन में चल रहा है तो फिर कमेंट सेक्शन में पूछन बिलकुल भी न भूलें।

जयपुर में सबसे मशहूर चीज क्या है ?

जयपुर सबसे फेमस किला अमर किला है।

जयपुर में स्थित एक तीर्थ स्थल कौन सा है ?

जयपुर में स्थित एक मशहूर तीर्थ स्थल गलताजी मंदिर है।

जयपुर में घूमने के लिए कितने दिन चाहिए ?

जयपुर में घूमने के लिए काम से काम 3 दिन चाहिए।

जयपुर का बाजार किस दिन बंद रहता है ?

जयपुर में रविवार के दिन बाजार बंद रहता है।

जयपुर में अनोखा क्या है ?

जयपुर में अनोखा यहाँ का हवा महल है।

जयपुर में घूमने में कितना खर्च आता है ?

जयपुर घूमने के लिए निकल रहें हैं तो आपके पास कम से कम 13000 से 15000 तक का खर्च आता है।

Leave a comment