10+जम्मू में घूमने की जगह, खर्चा और जाने का समय

Jammu Me Ghumne ki Jagah : यहाँ आपको जम्मू में घूमने की जगह जाने का सही समय एवं खर्चा से सम्बंधित सारी जानकारी आपको काफी अच्छी तरह से समझाने की कोशिश की गयी है। अगर आप अपने घरों में गर्मियों की वजह से परेशान हो रहे हैं एवं किसी ऐसे जगह की तलाश में हैं जहाँ आप गर्मियों से परशान हो रहे हैं तो फिर आपको जम्मू कश्मीर की यात्रा अवश्य करनी चाहिए।

जम्मू में घूमने की जगह , जाने का समय एवं खर्चा

अगर आप यहाँ घूमने के लिए आ रहे हैं तो यहाँ का शानदार वातावरण जहाँ चारोंऔर बर्फ की ही पहाड़ियों को देखने को मिलता है। बर्फ के पहाड़ियां एवं चीड़ के पेड़ चारों और बर्फ से ढके वातावरण आपको सचमुच में स्वर्ग में होने के अनुभव देते हैं।

यह जम्मू कश्मीर आपको भारत के उत्तरी भाग में देखने को मिलता है , जो की तवी नदी के किनारे में स्थित है। यहाँ की संस्कृति , खान पान एवं खूबसूरती के कारण ही यह सिर्फ देशी पर्यटकों के बीच ही नहीं बल्कि विदेशी पर्यटकों के बीच भी काफी ज्यादा प्रशिद्ध है। इनके अलावा यहाँ आपको माता रानी यानि की वैष्णो देवी की भी मंदिर देखने को मिलती है। जिसके कारण जम्मू कश्मीर पर्यटकों के बीच काफी ज्यादा प्रशिद्ध है। और इन्ही मंदिर के कारण प्रत्येक साल लाखों की संख्या में पर्यटकों का आना जाना लगा रहता है।

आपकेजैसे पर्यटकों के लिए यहाँ काफी कुछ की व्यवस्ता की गई है। इनमे से प्रमुख रूप में पैराग्लिडिंग , राफ्टिंग स्विमिंग है जिसके मदद से आप जम्मू में काफी मौज कर सकते हैं।

अगर आप जम्मू की यात्रा करना चाहते हैं एवं यहाँ की यात्रा से सम्बंधित किसी भी प्रकार का कोई सवाल है तो उन सरे सवाले के जवाब आपको मेरे इस लेख काफी सरल शब्दों में मिल जयेगी।

जम्मू के बारे में रोचक तथ्य

  • इस शहर को बनवाने के क्रेडिट जम्बू लोचन नाम के शख्स को जाता है लेकिन यह पूरी तरह से सत्य नहीं है।
  • यहाँ की कश्मीर घाटी में अक्सर आतंकवादियों का डेरा देखने को मिलता है।
  • भारतीय ग्रंथो के अनुसार जम्मू कश्मीर को डुग्गर प्रदेश के नाम से जाना जाता है।
  • यहाँ का कुछ क्षेत्रफल लगभग 13297 वर्ग पाकिस्थान के कब्जे में आता है।
  • जम्मू के अंतर्गत 10 जिला देखने को मिलता है।

जम्मू में लोकप्रिय पर्यटक स्थल ( Jammu Tourist Places in Hindi)

रघुनाथ मंदिर

जम्मू में घूमने वाले स्थानों में इस विशाल मंदिर का नाम सबसे पहले आता है और यह अपनी खूबसूरती के बजह से पर्यटकों के बीच आकर्षण का केंद्र बना रहता है। इस मंदिर का निर्माण महाराजा गुलाब सिंह के द्वारा 1835 में करवाया गया था। इस मंदिर को बनाने शुरुवात महाराजा गुलाब सिंह के द्वारा करवाया गया था लेकिन इस मंदिर को पूरी तरह से उनके बेटे महराजा रणवीर सिंह के द्वारा कराया गया था।

RAGHUNATH TEMPLE
RAGHUNATH TEMPLE

अगर आप इस मंदिर में घूमने के लिए आते हैं तो आप देखेंगे की इस मंदिर की आंतरिक सुंदरता काफी अद्भुत है। मंदिर की दीवरों में आपको सोने की पत्ती एवं चादर भी देखने को मिलते हैं। साथ ही मंदिर के अंदर काफी सारे देवी देवताओं के भी कलात्मक मूर्तियाँ आपको देखने को मिल जाती है। अगर आप जम्मू में घूमने के लिए जा रहे हैं। इस मंदिर में घूमने के लिए अवश्य जाएँ।

बाहू किला

जम्मू में घूमने वाली स्थानों में इस बाहु किला में आपको एक शानदार काली मंदिर देखने को मिलता है। इस किले को आप जम्मू से 4 किलोमीटर की दुरी में स्थित एक पहाड़ी में देख सकते हैं। जो की 3000 साल पुराना किला है इस किले का निर्माण राजा बाहुलोचन के द्वारा किया गया था। इस किले की सबसे खास बात यह है की यह किला इतना पुराण होने के बाद भी आज भी काफी हद तक सही है। यह किला आपको तवी नदी के किनारे देखने मिलता है।

Bahu Fort
Bahu Fort

किले के अंदर स्थित माँ काली के मंदिर में आप देखेंगे की मंगलवार एवं रविवार को यहाँ के स्थानीय लोंगो की काफी ज्यादा भीड़ रहती है। इस किले में पड़ने वाली सूर्य की रौशनी के कारण इस किले की सुंदरता और भी ज्यादा बढ़ जाती है। एवं यहाँ आने वाले पर्यटकों के लिए यह काफी शानदार पर्यटक स्थल बन जाता है। यहाँ पहाड़ के नीचे एक काफी सूंदर उद्यान भी है जो की यहाँ आने वाले पर्यटकों के बीच काफी शानदार पर्यटन स्थल है।

पहलगाम

पहलगाम जम्मू में घूमने वाले पर्यटन स्थलों में काफी लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। यह जगह अपनी प्राकृतिक सुंदरता एवं खुबसूरत वातावरण के कारण ही पर्यटकों के बीच काफी ज्यादा फेमस है। यहाँ आपको खूबसूरत झील पेड़ पौधे एवं घास के मैदान देखने को मिल जायेंगे। यहाँ के हरे भरे वातावरण में समय बिताना आपके लिए काफी शकुन भरा पल होने वाला है। यहाँ के झील में आपके जैसे पर्यटकों के लिए राफ्टिंग एवं गोल्फिंग का भी शानदार व्यवस्था देखने को मिल जायेगा।

Pahalgam
Pahalgam

यहाँ आपको मुख्य आकर्षण के रूप में मामल मंदिर एवं बेताल की घाटियाँ देखने को मिलती है। यहाँ पर स्थित कश्मीरी बाजारों में आपको काफी सारी कश्मीरी चीजें देखने को मिलती है इन चीजों का आप पाने यात्रा के दौरान शॉपिंग कर सकते हैं। पर्यटकों के लिए यह जगह किसी स्वर्ग से कम नहीं है। जम्मू में घूमने के दौरान आपको इस पहलगाम वाले स्थानों में जरूर से जरूर आना चाहिए।

सनासर

जम्मू में घूमने वाले पर्यटन स्थलों में इस सनासर को आप पटनीटाप से 18 किलोमीटर की दुरी में देख सकते हैं। यहाँ आप देखेंगे की यहाँ काफी हरा भरा मैदान है एवं यह चारों तरफ काफी खूबसूरत पहाड़ की घाटियां भी देखने को मिलती है। इस स्थान की खूबसूरती अध्भुत है। यहाँ आपको चीड़ के पेड़ भी देखने को मिलते हैं जो की इस जगह की खूबसूरती में चार चाँद लगा देते हैं। साथ ही यहाँ आपको एक काफी सुंदर तालाब भी देखने को मिलता है।

Sanasar
Sanasar

साथ ही यहाँ आप अन्य तरह की खेलों का भी भरपूर मजा ले सकते हैं। अगर आप गोल्प के शौकीन हैं तो यहाँ आपके लिए गोल्फ की भी काफी अच्छी की गयी है। साथ ही यहाँ एडवेंचर एक्टिविटी करने वालों का भी काफी अच्छा खासा ध्यान यहाँ रखा गया है। यहाँ आप पैराग्लाइडिंग जैसे रोमांचक गतिविधियों का भी भरपूर मजा ले सकते हैं। यहाँ आपको एक रास्ता ऐसा भी मिलेगा जो की आपको पहाड़ की ऊंचाई तक लेके जाता है। जहाँ से आप आसपास के सुंदर नजारों को अपनी खुली आंखों से देख सकते हैं।

सुध महादेव

सुध महादेव जम्मू में घूमने लायक स्थानों में यह काफी प्रशिद्ध पर्यटन स्थल है। जो की यहाँ आने वाले पर्यटकों के बीच हमेशा से ही आकर्षण का केंद्र बना रहता है। यह खासकर भगवान शिव एवं पार्वती के लिए मशहूर है। यहाँ के वातावरण में काफी हरे भरे पेड़ पौधे आपको देखने को मिल जायेंगे , जिसके बीच पर्यटक काफी शांति महसूस करते हैं।

Sudhmahadev
Sudhmahadev

पीर खो गुफा

जम्मू के आप पास घूमने वाले क्षेत्रों में यह पीर गुफा दरअसल एक मंदिर है। इस मंदिर में सालों भर आपको कई तरह के पर्व त्यौहारों का उल्लास आपको देखने को मिलता है। कहा जाता है इस मंदिर के द्वारा कई तरह के पर्व त्योहारों किया जाता है जैसे की श्रावण पूर्णिमा , रक्षा बंधन , शिव रात्री। विशेष रूप से भगवान शिव की पूजा की जाती है। और यह मंदिर गुफा में है। जो की जामवंत के दूसरे नाम से जाना जाता है। इस मंदिर की खूबसूरती डोगरा चित्रों एवं कलात्मकता से सजी हुई है। जो की मंदिर की खूबसूरती और भी काफी ज्यादा बड़ा देती है।

बाग – ए – बहु

बाग ए बहु काफी फेमस एवं सूंदर उद्यान है। इस उद्यान को आप तवी नदी के पास स्थित पहाड़ के ऊपर देख सकते हैं। इस बगीचे पर्यटक शांति के कुछ पल बिताने आते हैं। यहाँ पर्यटकों के लिए बड़ा सा मछली घर , सूंदर झील , पत्थर की मूर्तियाँ , भव्य फव्वारे एवं विशाल लेन देखने को मिलते हैं। शाम के वक्त पर्यटक एवं स्थनीय लोग यहाँ शांति के कुछ पलों की तलाश में आते हैं।

उद्यान में प्रवेश करते ही यहाँ आपको बाग़ ए बहु का का बड़ा सा साइन बोर्ड देखने को मिलता है। अंदर जाते ही आपको काफी खूबसूरत पेड़ पौधे देखने को मिलते हैं। एवं इन पेड़ पौधों को काफी कारीगरी के साथ काट छांट किया गया है।

यहाँ पर स्थित झील एवं रंग बिरंगी फूलों के करना इस पार्क की खूबसूरती और भी ज्यादा बढ़ जाती है।

साथ ही इस उद्यान में पाई जाने वाली मूर्तियाँ आसपास की हरियाली से काफी मैच करती है जिसके कारण यहाँ का वातावरण और भी ज्यादा शांत होता है।

यहाँ आपको भारत के सबसे बड़ा भूमिगत एक्केरीयम देखने को मिलता है। जो की पूरी तरह से मछली के आकर में बना हुआ है। यहाँ आपको 24 एक्केरीयम की गुफाएँ और 13 छोटी गुफाएँ देखने को मिलती है। जहाँ मीठे पानी में 400 से भी अधिक प्रजाति की मछली देखने को मिलती है।

कुल मिलकर यह यहाँ आने वाले पर्यटकों का काफी जबरदस्त मनोरंंजन करता है।

नंदनी वाइल्ड लाइफ

नंदनी वाइल्ड लाइफ जम्मू में के आसपास घूमने वाले क्षेत्रों यह अभ्यारण खास कर के तीतरों की बड़ी संख्या के लिए जाना जाता है। यहाँ आपको अनगनित पक्षियाँ देखने को मिलते हैं। यहाँ आप विभिन्न प्रजाति के पक्षियों को देख सकते हैं उनके नाम कुछ इस प्रकार से है – चकोर , लाल जंगली पक्षी , भारतीय मोर , ब्लू रॉक कबूतर , भारतीय सेना एवं असंख्य प्रकार के तीतर।

मुबारक मंदी पैलेश

जम्मू में स्थित यह एक शाही पैलेस जो की कभी डोगरा राजवंश के राजा महाराजा का निवास स्थान हुआ करता था। इस पैलेश में आपको सबसे खास कुछ देखने को मिलेगा तो वह यहाँ पर स्थित संग्राहलय जिसके नाम कुछ इस प्रकार से हैं द शीश महल या द पिंक महल। यहाँ आपको काफी कुछ देखने को मिल जाता है जैसे की सम्राट के द्वारा इस्तेमाल किया जाना वाला लघु चित्र सुनहरे धनुष एवं तीर साथ ही और भी कई तरह के चीजें आपको देखने को मिल जायेंगे।

इस महल की वास्तुकला के रूप में आप यहाँ यूरोपीय , राजस्थानी एवं मुगल तीनों कलाओं का मिश्रण आपको देखने को मिल जाता है। यहाँ इस परिसर में आपको एक पुरानी इमारत भी आपको देखने को मिलेगी जिसे की 1824 में बनवाया गया था।

जम्मू में खाने के लिए क्या क्या फेमस है?

अब तक आपने जम्मू में घूमने की जगहों के बारे में जाना अब बात करते हैं यहाँ पर्यटकों के द्वारा पसंद किये जाने वाले स्वादिस्ट व्यंजनों के बारे में। यहाँ आने वाले पर्यटकों के द्वारा इन व्यंजनों को काफी ज्यादा पसंद किया जाता है और बड़े ही चाव से इसका आनंद लिए जाता है।

यहाँ का कुछ प्रमुख व्यंजन इस प्रकार से है –

मोदक पुलाव

अगर आप अकेले या अपने परिवार के साथ यहाँ घूमने के लिए आते हैं तो यहाँ का फेवरेट डिस मोदक पुलाव को अपने यात्रा के दौरान चखना कभी भी न भूलें। सुनने में यह बिलकुल ही साधारण पुलाव के तरह ही लगता है लेकिन इसका स्वाद साधारण पुलाव कहीं ज्यादा होता है। इस पुलाव को बनवाने में काफी तरह के इंग्रीडिएंट्स कस इस्तेमाल किया जाता है।

इसे बनाने के लिए दूध, घी , दाल चीनी केसर काजू किसमिस बादाम एवं सूखे मेवे का इस्तेमाल किया जाता है। इन सभी को अच्छे तरह से पकाने के बाद ही मोदक पुलाव को तैयार किया जाता है। इस पुलाव की सबसे बड़ी खासियत यही है की इसमें आपको केसर देखने को मिल जायेंगे। अगर आप उन लोंगो में से हैं जो की मीठे व्यंजन के शौकीन तो यहाँ जम्मू की यात्रा के दौरान आपको इस मोदक पुलाव को जरूर से जरूर चखना चाहिए।

दम आलू

यहाँ आने वाले पर्यटकों के द्वारा सबसे ज्यादा पसंद किये जाने वाले व्यंजनों में एक नाम दम आलू का भी आता है। यह देखने में और सुनने में एक साधारण सा व्यंजन लगता है। लेकिन यदि एक बार गलती से भी अगर आप इसके स्वाद को चख लेते हैं तो आप इसे कभी भी नहीं भूल सकते हैं।

दम आलू को बनाने में काफी कुछ का इस्तेमाल किया जाता है जिनमे से मुख्य के नाम इस प्रकार से हैं गर्म मशाले लौंग , अदरक के पेस्ट एवं दही। इन सारे इंग्रीडिएंट्स को मिलाकर ग्रेवी तैयार किया जाता है। फिर इसी ग्रेवी में आलू को पकाया जाता है।

कश्मीरी बैगन

यहाँ घूमने आने वाले पर्यटकों में शाकाहारी भोजन को पसंद करने वाले पर्यटकों का भी काफी विशेष ख्याल रखा गया है। अगर आप उन पर्यटकों में से हैं जो की शाकाहारी भोजन को पसंद करते हैं तो यहाँ आप जम्मू की यात्रा में कश्मीरी बैंगन का स्वाद लेना कभी भी न भूलें। यह कश्मीरी बैंगन पुरे जम्मू कश्मीर में प्रशिद्ध है।

इस बैंगन को बनाने में दही एवं अन्य तरह के मसलों का इस्तेमाल किया जाता है जो की इसे और भी स्वादिस्ट बना देता है। इसलिए जम्मू की यात्रा के दौरान इसका स्वाद जरूर चखें।

लयादेर सछमन

लयादेर सछमन जम्मू कश्मीर में आने वाले पर्यटकों के द्वारा पसंद किया जाने वाला एक स्वादिस्ट सा व्यंजन है। जो की यहाँ आने वाले पर्यटकों एवं स्थानीय लोंगो के बीच काफी प्रशिद्ध है। यह एक तरह का पनीर सब्जी जिसे की मलाईदार ग्रेवी के साथ तैयार किया जाता है। अपने ट्रिप के दौरान आप इसे चखने को मौका कभी भी न छोड़े यह आपको सचमुच एक अलग ही अहसास देता है।

शब डीग

आप यहाँ जम्मू में घूमने वाले पर्यटन स्थलों का भर्मण करने के लिए आये हैं और आप नॉन वेज खानों के शौकीन हैं तो इसके लिए आपको लिए यहाँ शब डीग की व्यवस्था मिल जाएगी। शब डीग को आप यहाँ के स्थानीय घरों में देख सकते हैं। स्थानीय लोंगो के द्वारा इसे काफी पसंद किया जाता है।

हलांकि इसे बनाने काफी ज्यादा मेहनत करनी होती है। लेकिन इसके बाद इसका जो स्वाद मिलता है वह सचमुच में लाजवाब होता है।

जब इसे तैयार किया जाता है तब इसे बनाने के लिए सबसे पहले चिकन को रात में सलजम एवं अन्य मशालों के साथ मिलकर फिर बर्तन को आटे से सील करके सुबह तक छोड़ दिया जाता है। फिर सुबह के समय ग्रेवी के साथ इसे यहाँ आने वाले आगंतुकों को परोसा जाता है।

आब गोश

यहाँ आने वाले पर्यटकों में जो कोई भी नॉनवेज के शौकीन है उनका यहाँ पर अच्छा खासा ध्यान रखा जाता है। यूँ तो आपको जम्मू में घूमने लायक स्थानों में कई सारे नॉन वेज व्यंजन मिल जाते हैं लेकिन उनमे एक जो की सबसे ज्यादा प्रशिद्ध है उसका नाम है अब गोश।

इसे बनाने के लिए मटन को दूध एवं अन्य मशालों के साथ तैयार किया जाता है। फिर केसर चावल के साथ अपने मेहमानों को परोसा जाता है। नॉनवेज के शौकीन पर्यटकों के लिए यह काफी शानदार व्यंजन है एवं इस व्यंजन को यहाँ आने वाले पर्यटकों के द्वारा काफी ज्यादा पसंद है। आप भी अपनी यात्रा के दौरान इस स्वादिस्ट व्यंजन का मजा लेने का मौका कभी भी न छोड़े।

कश्मीरी गाद

कश्मीरी गाद एक ऐसा व्यंजन है जहाँ आपको शाकाहारी एवं माँसाहारी दोनों तरह का टेस्ट चखने को मिलता है। इस व्यंजन को खासकर के मछली के साथ तैयार किया जाता है। इसमें तरह तरह के सब्जियों को मिलाया जाता है एवं मूली का भी इसमें अच्छा खासा इस्तेमाल किया जाता है।

इसे और भी स्वादिस्ट बनाने के लिए इसमें कई तरह के मशालों और जड़ी बूटी को भी मिलाया जाता है। इसके तैयार होते ही इसे 1 घंटे के बाद इसे मेहमानों के सामने परोस दिया जाता है।

अगर आप जम्मू घूमने के लिए आ रहे हैं तो आपकी जानकारी के लिए आपको बता दें की यहाँ आपको शाकाहारी एवं माँसाहारी दोनों तरह के व्यंजन देखने को मिल जायेंगे। साथ ही यहाँ आपको दोनों तरह के रेस्टोरेंट देखने को भी मिल जाते हैं।

चूँकि यहाँ भारत के कई राज्यों से पर्यटकों का आना जाना लगा रहता है इसलिए यहाँ हर तरह का भारतीय व्यंजन आपको मिल जाता है। साथ ही स्थनीय भोजन के साथ कांटिनेंटल फ़ूड भी आपको यहाँ मिल जायेगा।

जम्मू घूमने जाने का सबसे सही समय

क्योंकि जम्मू में सालों भर काफी ज्यादा ठंड पड़ती है इसलिए यहाँ घूमने आने के लिए सबसे अच्छा समय गर्मियों का ही होता है। क्योंकि इस समय भारत के अन्य हिस्सों में काफी ज्यादा गर्मी होता है। जिससे यहाँ आने में आपको काफी ज्यादा राहत मिलती है।

इसके अलावा आप यहाँ पर सालों भर पर्यटक का भीड़ देख सकते हैं। आप चाहे तो ठंडी के मौसम में भी आ सकते हैं इसके लिए आपको विशेष रूप से तैयार हो कर आना होता है। कहने का मतलब आपको यहाँ आने से पहले ठंडी में इस्तेमाल किये जाने वाले सारे गर्म कपड़ो को काफी अच्छी तरह से पैक करके आना चाहिए। पहाड़ो में चलने वाले खास किस्म के जूतों को अपने साथ रखना कभी भी न भूलें , जिससे आपको पहाड़ों में चलने में काफी आसानी होगी।

जम्मू कैसे पहुंचे?

जम्मू जाने के लिए यहाँ आपके पास तीन विकल्प है- वायु मार्ग , रेल मार्ग एवं सड़क मार्ग। जम्मू कश्मीर भारत का प्रमुख पर्यटन स्थल है इसी कारण से जम्मू कश्मीर का तीनों मार्ग भारत के प्रमुख शहरों से काफी अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। आप तीनों में से किसी भी यातायात की सहायता से यहाँ तक आसानी से पहुँच सकते हैं।

हवाई मार्ग के द्वारा –

अगर आप जम्मू कश्मीर में हवाई जहाज से जाने की सोच रहे हैं तो आपकी यह जान लेना चाहिए की यहाँ का नजदीकी हवाई अड्डा श्री नगर है।

यह हवाई अड्डा देश के सारे प्रमुख हवाई अड्डों से काफी अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। आप अपने शहर के नजदीकी हवाई अड्डे से यहाँ तक आसानी से पहुँच सकते हैं। उसके बाद आगे की यात्रा आप टैक्सी के द्वारा कर सकते हैं।

रेल मार्ग के द्वारा –

अगर आपको रेल के द्वारा यात्रा करना पसंद है तो यहाँ तक पहुंचने के लिए आपको सबसे पहले यहाँ के नजदीकी रेलवे स्टेशन जम्मू तवी तक जाना होता है।

जम्मू तवी तक जाने के बाद आप आगे की यात्रा आप बस या टैक्सी से आसानी से कर सकते हैं। जो की आपको आपके गणत्व तक पहुंचा देता है।

सड़क मार्ग

अगर आप सचमुच में यात्रा का मजा लेना चाहते हैं तो आप जैसे मंझे हुए यात्रियों करने वाले खिलाडियों के लिए सड़क मार्ग ही सबसे उत्तम विकल्प होने वाला है। सड़क मार्ग के द्वारा यात्रा करने पर आप कहीं पर भी टेंट लगा सकते हैं। कुछ देर के लिए मजे भी कर सकते हैं। और इसी तरह के मजे लेते हुए भी आप आगे की यात्रा कर सकते हैं।

आपको सड़क मार्ग का असली मजा तब मिलेगा जब आप अपने वाहनों के द्वारा यहाँ की यात्रा करने के लिए आ रहे हैं। कश्मीर ताज जाने वाले सड़क दिल्ली हरियाणा से काफी अच्छी तरिके से जुड़ा हुआ है।

जम्मू में कहां रुके?

क्योंकि जम्मू में घूमने वाले सारे पर्यटन स्थल एवं दर्शनीय स्थल विश्व प्रशिद्ध हैं। इसलिए यहाँ आपको हर तरह का होटल मिल जायेगा यहाँ आपको सस्ते से सस्ते एवं महंगे से महंगे होटल देखने को मिल जाते हैं। आप अपने बजट के अनुसार जो भी आपको सही लगे उसे बुक कर सकते हैं।

अगर आपका बजट थोड़ा कम है तो यहाँ रुकने के लिए आपको धर्मशाला की भी व्यवस्था मिल जाएगी । वैष्णो देवी के दर्शन करने के लिए आने वाले यात्रियों को ध्यान में रख कर ऐसे धर्मशाला को बनवाया गया है।

यहाँ के होटलों की जानकारी ऑनलाइन इटरनेट के माध्यम से भी ले सकते हैं।

जम्मू कैसे घूमे?

जम्मू पहुँचते ही यहाँ आपको कई सारे ऐसे एजेंट मिल जायेंगे जो की बाइक एवं टैक्सी को किराये में देने के काम करते हैं। उन एजेंटो से बाइक किराये में लेकर आप जम्मू में घूमने वाले सारे पर्यटन स्थलों का भर्मण कर सकते हैं। किसी भी बाइक एवं स्कूटी को आप 500 से 800 का किराया देके आप अपने जम्मू के ट्रिप में इस्तेमाल कर सकते हैं।

जम्मू घूमने का खर्चा

अगर आप अकेले जम्मू घूमने के लिए जा रहे हैं तो इसके लिए 2 दिन में आपको 8000 से 10000 रूपये खर्च करने होते है। जम्मू को घूमने के लिए 2 दिनों का समय काफी रहता है। 2 दिनों में आप जम्मू के सारे पर्यटन स्थलों को काफी अच्छे तरीके से घूम सकते हैं। आपका घूमने फिरने का खर्चा कम या ज्यादा भी हो सकता है यह आपके घूमने फिरने के तौर तरीके पर निर्भर करता है।

FAQ

जम्मू में आप किस प्रकार के रोमांचक गतिविधियों का आनंद सकते हैं ?

यहाँ आपको कई सारे झील देखने को मिल जायेंगे , जहाँ की आप तरह तरह के वाटर गेम्स का लुफ्त उठा सकते हैं। उनमे से कुछ के नाम इस प्रकार से हैं। उनमे से कुछ के नाम इस प्रकार से हैं – सर्फिंग , राफ्टिंग , कयाकिंग , एंगलिंग और कैनोइंग।

जम्मू में बोली जाने वाली प्रमुख भाषा कौन सी है ?

जम्मू में कश्मीरी हिंदी एवं डोगरी भाषा बोली जाती है।

जम्मू कश्मीर में बहने वाली नदी का नाम क्या है ?

जम्मू कश्मीर में तवी नदी बहती है।

जम्मू का मशहूर मंदिर कौन सा है ?

जम्मू का मशहूर नदी वैष्णो देवी मंदिर है।

कश्मीर को घूमने के लिए कितने दिनों की जरूरत होती है ?

आप पुरे कश्मीर को 5 से 6 दिनों में काफी अच्छी तरीके से घूम सकते हैं।

जम्मू जाने के लिए सही समय कौन सा है ?

जम्मू घूमने के लिए मार्च से अक्टूबर तक का समय बेहतरीन होता है।

निष्कर्ष

मेरे इस लेख में आपको जम्मू में घूमने की जगहों के बारे में सारी जानकारी काफी सरल शब्दों में मिलने वाली है। जिसकी सहायता से आप जम्मू के सरे पर्यटन स्थलों को काफी अच्छी तरह से ,बिना किसी परे शानी का सामना किये हुए घूम सकते हैं।

अगर मेरा यह लेख आपके यात्रा के लिए किसी भी तरह से मददगार साबित हुआ है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिलकुल भी न भूलें।

साथ यदि आपको मेरे इस लेख में किसी भी प्रकार की कोई भी गलती दिख रही हो तो उसे भी कमेंट सेक्शन में शेयर करना बिलकुल भी न भूलें।

Leave a comment