15+ कुल्लू में घूमने की जगह, खर्चा और जाने का समय

अगर आप हिमाचल प्रदेश कुल्लू में घूमने की जगह के बारे में जानकारी तलाश रहे हैं तो आप बिलकुल भी सही जगह पर हैं। मेरे इस लेख के माध्यम से आपको कुल्लू में घूमने की सबसे प्रशिद्ध जगह , जाने का सही समय , कैसे जाएँ , कब जाएँ इन सारी चीजों की जानकारी आपको काफी सरल शब्दों में मिल जाएगी।

कुल्लू में घूमने की जगह , जाने का समय एवं खर्चा

कुल्लू के बारे में रोचक तथ्य

  • कुल्लू में घूमने के लिए सबसे अच्छा समय मई एवं जून का महीना होता है। और इसी समय यहाँ लिए पर्यटकों का ज्यादा भीड़ देखा जाता है।
  • यहाँ आपको एक महादेव मंदिर भी देखने को मिलेगा जो की काफी चमत्कारिक मंदिर है।
  • यहाँ करने के लिए आपको एक से एक रोमांचक गतिविधियाँ देखने को मिलेगा , जिसका की आप भरपूर मजा ले सकते हैं।
  • यहाँ आपको एक हनोगी माता का भी मंदिर देखने को मिलता है। जहाँ आप हिन्दू धर्म के ज्यादा दर्शनार्थियों को देख सकते हैं।

कुल्लू टूरिस्ट प्लेस (Kullu Tourist Places in Hindi)

बिजली महादेव मंदिर

कुल्लू में घूमने की जगह में यहाँ आपको एक बिजली महादेव मंदिर देखने को मिल जायेगा , यह यहाँ का काफी फेमस मंदिर है। इस मंदिर को बनाने के लिए काश शैली का इस्तेमाल किया गया है। यहाँ आपको काफी कुछ रहस्मयी एवं चमत्कारिक चीजें देखने को मिलेगी।

Bijli Mahadev Temple In Kullu
Bijli Mahadev Temple In Kullu

कहा जाता है की इस मंदिर में हर 12 साल में यहाँ पर मंदिर के अंदर स्थित शिवलिंग पर तड़ित गिरती है और शिवलिंग टूट जाती है। फिर यहाँ के पुजारी एवं स्थानियों के द्वारा इसे जोड़ा जाता है। उसके बाद शिवलिंग बिलकुल पहले जैसा ही बन जाता है।

कैसरधर

कैसरधर कुल्लू में घूमने वाली जगहों में सबसे शानदार जगह है। यह स्थान पिकनिक स्थल के रूप में काफी ज्यादा प्रशिद्द है। अगर आप अपने परिवार के साथ यहाँ पर घूमने के लिए आ रहे हैं तो स्थान काफी ज्यादा पसंद आने वाला है।

Kais Dhar
Kais Dhar

यह जगह पर्यटकों के द्वारा इसलिए भी पसंद किया जाता है क्योंकि ट्रेकिंग के लिए काफी अच्छी जगह मानी जाती है। ट्रेकिंग के दौरान आप यहाँ सूंदर सूंदर घाटियों के भी शानदार मजा ले सकते हैं। कुल्लू से इस जगह की दुरी मात्र 15 किलोमीटर है।

इसे भी पढ़े

हनोगी माता मंदिर

कुल्लू में घूमने वाली स्थानों में हनोगी माता मंदिर एक धार्मिक मंदिर है। हिन्दू धर्म के तीर्थ यात्रियों के लिए यह जगह काफी शानदार धर्म स्थल है। वैसे यह मंदिर आपको पहाड़ी की छोटी में देखनेको मिलेगा।

Hanogi Mata Temple
Hanogi Mata Temple

धार्मिक स्थल होने के कारन यहाँ आपको सिर्फ पूजा पाठ करने वाले लोग ही ज्यादा देखने को मिलेंगे , क्योंकि यह एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है इसलिए यहाँ से आपको शानदर सेट सेट भी देखने को मिलता है।

चंद्रखनी पास

यदि आप ट्रेकिंग के शौकीन हैं एवं उच्चे दर्रे में घूमना अच्छा लगता है तो फिर आपको कुल्लू में घूमने वाली जगहों में इस चन्द्रखनी पास दर्रा में जरूर आना चाहिए। यह दर्रा जमीन से 13,500 फ़ीट की ऊंचाई में देखने को मिलेगा। यहाँ से आपको हिमाचल प्रदेश की अन्य पहाड़ियों को भी देखना का मौका मिलता है।

 Chandrakhani Pass Trek
 Chandrakhani Pass Trek

यहाँ आप किसी भी मौसम सर्दी या गर्मी कभी भी घूमने के लिए आ सकते हैं। चंद्रखणी दर्रा घूमने के दौरान आपका मन ख़ुशी से बाग बाग हो जायेगा।

वैष्णो देवी मंदिर

वैष्णो देवी का नाम सुनते ही आपके मन में सबसे पहले जम्मू कश्मीर में स्थित कटारा वैष्णो देवी का नाम आता है। लेकिन यहाँ पर भी आपको का वैष्णो देवी का मंदिर देखने को मिल जायेगा। जो की कुल्लू में घूमने वाले तीर्थ स्थानों में मिनी वैष्णो देवी के नाम से प्रशिद्ध है माता का मंदिर आपको व्यास नदी के किनारे देखने को मिलता है।

 Vaishno Devi Temple Kullu
 Vaishno Devi Temple Kullu

मंदिर के आसपास आपको काफी अध्भुत नज़ारे देखने को मिलते हैं। यहाँ मंदिर के आसपास शानदर पर्कृतिक वादियों देखने को मिलती है। जो की यहाँ आने वाले पर्यटकों को पानी और आकर्षित करती है। इसके आस पास आपको शानदार जंगल हरे भरे मैदान , ऊँचे ऊँचे पहाड़ियाँ एवं सेब के बगीचे भी देखने को मिल जायेंगे। इस मंदिर को आप मनाली से मात्र 2 किलोमीटर की यात्रा तय करके पहुंच सकते हैं। साथ ही यहाँ आपको एक बड़ी से प्रतिमा देखने को मिलेगी।

साथ ही यहाँ के आँगन में आपको भगवान शंकर की प्रतिमा देखने को मिल जाएगी। कुल्लू में घूमने के दौरान यहाँ के मिनी वैष्णो देवी मंदिर में आना कभी भी न भूलें।

भंटर

मनाली के पास स्थित एक काफी प्रशिद्ध स्थल है। यह एक प्रकार का हिल स्टेशन है जहाँ आपको कई सारे प्राचीन मंदिर भी देखने को मिलेंगे। यहाँ रिवर राफ्टिंग की भी काफी अच्छी व्यवस्था है। अगर आपको रिवर राफ्टिंग अच्छा लगता है तो इनका लुफ्त उठाने का मौका कभी भी न छोड़े। इस तरह से आपके लिए एवं आपके परिवार के लिए भंटर घूमने के लिए एवं मौजमस्ती के लिए काफी शानदार जगह है।

Bhunter
Bhunter

सुल्तानपुर पैलेस

यह पैलेश कभी भूकंप के कारण पूरी तरह से बर्बाद हो गया था। लेकिन बाद में इस पैलेस पेंटिंग एवं पहाड़ी शैली के मदद से काफी अच्छी तरह से तैयार किया गया था।

Sultanpur Palace
Sultanpur Palace

यह शानदर पैलेस अपनी अद्भुत खूबसूरती के कारण पर्यटकों के बीच एक अलग ही पहचान रखता है। मानली से मात्र 15 किमी की दुरी पर आपको यह पैलेश देखने को मिल जायेगा। यहाँ तक पहुँचने के लिए आप कैब आदि को बुक करके पहुँच सकते हैं।

फ्रेंडशिप पीक

अगर आप ट्रेकिंग के शौकीन है तो आपको कुल्लू में घूमने वाली स्थानों में यह फ्रेंडशिप पीक आपके लिए काफी ज्यादा पसदीदा जगह होने वाली है। कहा जाता है की ट्रैकिंग करने वालों के लिए यह किसी स्वर्ग से कम नहीं है। इस फ्रेंडशिप पीक तक आप शिलांग घाटी से होकर जा सकते हैं।

Friendship Peak
Friendship Peak

जैसा की आपको पहले ही पता है की सोलांग घाटी अपनी खूबसूरत वादियों के लिए जाना जाता है। इस की खूबसूरत सी वादियों में भर्मण करने से आपका मूड काफी अच्छा एवं खुश रहने लगेगा।

नग्गर

नग्गर कुल्लू में घूमने वाली जगहों में एक छोटा सा गाँव है लेकिन यह अपने अद्भुत खूबसूरती के लिए दूर दूर तक प्रशिद्ध है। अगर आप हरे भरे मैदान देखने के शौकीन हैं एवं प्राकृतिक वातावरण आपको काफी अच्छा लगता है तो फिर आपको लिए यह जगह किसी स्वर्ग से कम नहीं होने वाला है। यहाँ ट्रैकिंग एवं कैम्पिंग के लिए यह जगह काफी सही जगह है। ज्यादातर पर्यटक यहाँ केम्पिंग एवं ट्रैकिंग के लिए ही आते हैं।

Naggar
Naggar

यहाँ रुकने के लिए आपको दो शानदार होटल मिल जायेंगे , पहले के समय में यह एक महल रूप में प्रशिद्ध था। लेकिन आज के दिन में इसका इस्तेमाल होटल के रूप में किया जाता है। यहाँ पर्यटकों के बीच मुख्य आकर्षण के रूप में गर्म पानी का झरना एवं पुराण संग्रहालय देखने को मिल जायेगा।

भृगु झील

कुल्लू में घूमने वाले पर्यटन स्थलों में एक नाम यहाँ के भृगु झील का भी आता है। यह एक धार्मिक झील के रूप प्रशिद्ध है। ऋषि भृगु के कारन ही इस झील का नाम भृगु झील पड़ा है। कहते हैं की इसी झील पर भृगु ऋषि ध्यान एवं तपस्या किया करते थे। यह पल ऑफ गाड्स के नाम से है। कहा जाता है की इस झील में देवताओं के द्वारा भी डुबकी लगाया जाता था।

 Bhrigu Lake
 Bhrigu Lake

यहाँ और एक चमत्कार आपको देखने को मिलता है। बर्फ बरी के दौरान इस झील का पानी नहीं जमता है। कुल्लू में घूमने के दौरान यदि आप रोहतांग दर्रे में घूमने के लिए आ रहे हैं तो आपको इस झील में घूमने में काफी आसानी होगी ,कहने का मतलब इस दौरान आप यहाँ के झील को घूमने का मौका कभी भी न छोड़े।

कुल्लू में स्थित इस धार्मिक झील की दुरी गुलाबा गांव से मात्र 6 किलोमीटर है।

मणिकरण साहिब

मणिकरण साहिब हिन्दुओं एवं सिखों के काफी पवित्र धर्म स्थल है। यहाँ आने वाले हिन्दू एवं सिक्ख सबसे पहले यहाँ जाना पसंद करते हैं। कुल्लू में घूमने वाले स्थानों में यह मनिकरण साहिब आपको पार्वती नदी के देखने को जायेगा। यहाँ आपको का गर्म पानी का झरना भी देखने को मिलता है। साथ ही यहाँ का खूबसूरत वातावरण के कारण लोग यहाँ खींचे चले आते हैं।

Manikaran Sahib
Manikaran Sahib

यहाँ आप ज्यादातर धार्मिक प्रवृति के लोंगो को ही घूमते देख सकते हैं। मणिकरण साहिब सिखों का प्रशिद्ध गुरुद्वारा होने के कारन यहाँ आपको काफी अधिक संख्या में सिख समुदाय के लोग देखने को मिलेंगे। जैसा की आप जानते हैं किसी भी गुरुद्वारा में आने वाले पर्यटकों के खाने पीने के लिए काफी अच्छी व्यवस्था होती है। मनाली से मात्र 24 किलोमीटर की दुरी में आपको मणिकरण साहिब देखने को मिल जाएगी , जहाँ आप बस कब टैक्सी आदि से भी जा सकते हैं।

खीरगंगा

खीरगंगा खासकर उन पर्यटकों के लिए जो की रोमांचक गतिविधियों को करने के शोक रखते हैं उनके लिए यह स्थान किसी स्वर्ग से कम नहीं है। खीरगंगा हिमालय में स्थित गर्म झरने के कारन काफी ज्यादा चर्चित है। यहाँ आपको गर्म झरनों के साथ साथ और भी प्राकृतिक नज़ारे देखने को मिलते हैं।

Khirganga
Khirganga

यहाँ आप कई तरह के रोमांचक गतिविधियों को करने का मौका मिलता है। यहाँ आपके जैसे रोमांच के शौकीन लोंगो के लिए करने के लिए काफी कुछ है उनमे से कुछ के नाम इस प्रकार से है – केम्पिंग , नेचर वाकिंग ,माउंटेन क्लाइम्बिंग। सूर्यास्त के समय में भी यहाँ आपको काफी शानदार नजारा देखने को मिलता है।

तीर्थंन घाटी

कुल्लू में घूमने के दौरान आप पूरी तरह से टूट चुकें हैं या थक चुके हैं। किसी ऐसी शांति वाली स्थान के तलाश में हैं जो की आपको सारे स्ट्रेस को कम कर दे तो इसके लिए आपको तीर्थंन घाटी में जरूर से जरूर आना चाहिए। यहाँ की बहती हुई नदियाँ एवं झीलें यहाँ आने वाले पर्यटकों का मन मोह लेती है।

Tirthan Valley
Tirthan Valley

साथ ही यहाँ आप अन्य तरह की गतिविधियों का भी जी भर के आनंद ले सकते हैं। यहाँ किये जाने वाले कुछ रोमांचक गतिविदियों के नाम भी इस प्रकार से हैं जो की यहाँ आने वाले पर्यटकों के द्वारा खूब पसंद किया जाता है उनमे से कुछ के नाम इस प्रकार से हैं – रैपलिंग , रॉक क्लाइम्बिंग। यहाँ तक पहुँचने के लिए आप बस या टैक्सी की सहायता ले सकते हैं। जो की आपको मनाली से मिल जाएगी।

कुल्लू का प्रसिद्ध भोजन

हिमाचल प्रदेश की इस कुल्लू में आपको हर तरह के भारतीय भोजन देखने को मिल जायेंगे , यह आपके पसंद पर जाता है की आप किस तरह के भोजन को लेना पसंद करते हैं।

यहाँ आपको भारतीय भोजन के अलावे चीनी भोजन एवं अन्य कॉन्टिनेंटल फ़ूड भी देखने को मिल जायेंगे। कुल्लू की भोजन में आपको दाल चावल सब्जी , चपाती मिलेंगे एवं साथ में आप यहाँ के दही का भी स्वाद ले सकते हैं।

कुल्लू में घूमने के लिए कब जाएं?

अगर आप कुल्लू में घूमने के बारे में सोच रहे हैं तो यहाँ आपके घूमने के लिए सबसे अच्छा समय मार्च से लेकर जून का समय होता है। क्योंकि यह का हिल स्टेशन है इसलिए यहाँ पर पर्यटकों का आना जाना इस मौसम में सबसे ज्यादा रहता है। अन्य शहरों में लोग इस समय भारी गर्मी से परेशान रहते हैं।

अगर आप यहाँ पर होने वाले बर्फ़बारी को देखने का शोक रखते हैं तो इसके लिए आपको यहाँ सर्दियों के मौसम में आना सही रहेगा। इस समय आप अपने तरह के अन्य पर्यटकों को भी यहाँ देख सकते हैं।

कुल्लू घूमने के लिए कैसे जाएं?

आप अपने शहरों से कुल्लू तक सड़क मार्ग , ट्रेन मार्ग , वायु मार्ग किसी भी माध्यम के द्वारा आप यहाँ तक पहुंच सकते हैं।

वायुयान से कैसे जाएं?

अगर आपको हवाई यात्रा करना अच्छा लगता है तो आपको यह पहले ही जान लेना चाहिए की यहाँ का सबसे नजदीकी हवाई अड्डा भंटूर हवाई अड्डा है। जो की भारत के सारे प्रमुख हवाई अड्डों से काफी अच्छी तरह से जुडी हुई है।

आप अपने शहर के किसी भी हवाई अड्डे से यहाँ तक की टिकट काफी आसानी से बुक कर सकते हैं। भंटूर से कुल्लू तक की दुरी मात्र 233 किलोमीटर है। जिसे की आप बस कैब या टैक्सी के द्वारा काफी मजे मजे के साथ पूरा कर सकते हैं।

ट्रेन मार्ग से कैसे जाएं?

घूमने फिरने के दौरान ट्रेन का सफर आपको अच्छा लगता है। कुल्लू के नजदीकी स्टेशन का नाम जोगिन्दर रेलवे स्टेशन है। जो की कुल्लू से मात्र 125 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है। यहाँ तक पहुँचने के लिए स्टेशन के बाहर ही आपको कैब एवं टैक्सी मिल जायगी।

सड़क मार्ग से कैसे जाएं?

सड़क मार्गों के द्वारा आपको यात्रा करना अच्छा लगता है तो आपके लिए उसके लिए भी यही की सरकार के द्वारा काफी अच्छी व्यवस्था की गयी है। हिमाचल प्रदेश की सरकार के द्वारा कुल्लू के लिए राज्य बसें एवं प्राइवेट बसें भी चलाई जाती है।

यदि आप बिहार एवं झारखण्ड जैसे किसी भी अन्य राज्यों से यहाँ पर आना चाहते हैं तो उसके लिए पहले आपको ट्रेन या बस के द्वारा चंडीगढ़ आना होता है। जहाँ से आगे की यात्रा आप बस के द्वारा कर सकते हैं।

FAQ

कुल्लू में प्रमुख मंदिर कौन से हैं ?

कुल्लू का प्रशिद्ध मंदिर महादेव मंदिर है।

कुल्लू को घूमने में कुल कितना खर्च आता है ?

कुल्लू में घूमने के लिए आपको मात्र 8000 से 10000 खर्चा करना होता है।

कुल्लू मे ज्यादातर किस तरह की पेड़ देखने को मिलती है ?

यहाँ आपको ज्यादातर पाइन एवं देवदार के पेड़ देखने को मिलेंगे।

कुल्लू घाटी का प्रशिद्ध हिल स्टेशन कौन सा है ?

कुल्लू का प्रशिद्ध हिल स्टेशन मनाली हिल स्टेशन है।

कुल्लू का पुराना नाम क्या है ?

कुल्लू का पुराना नाम कुलुता हुआ करता था।

निष्कर्ष

मैंने अपने इस लेख में कुल्लू में घूमने की जगह के बारे में काफी अच्छी तरह से बताया है। आशा करते हैं की मेरा यह लेख आपके काफी काम आया होगा।

मेरे इस लेख से आपका यदि थोड़ा भी भला हुआ होगा तो आपको यह लेख अपने मित्रमंडली में जरूर शेयर करना चाहिए।

साथ ही यदि मेरे इस लेख में आपको थोड़ा भी गलती नजर आये तो कमेंट सेक्शन में बताने की कृपा करें।

Leave a comment