10+ पुणे में घूमने की जगह, खर्चा और जाने का समय

Pune Me Ghumne ki Jagah : आज इस लेख में आपको पुणे में घूमने की जगह , खर्चा एवं जाने का सही समय से सम्बंधित सारी जानकारी आपको बड़ी आसानी मिलने वाली है। अगर आपको पुणे के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी है तो अच्छी बात है नहीं तो मेरे इस लेख में बने रहें , लेख के ख़त्म होते ही आपको सारी जानकारी मिल जाएगी। पुणे महाराष्ट्रा में स्थित है जो की मुंबई के बाद दूसरा सबसे बड़ा शहर है। यह अपने पर्यटन स्थलों एवं ऐतिहासिक इमारतों के लिए काफी ज्यादा पसंद किया जाता है।

पुणे में घूमने की जगह , जाने का समय और खर्चा

पुणे सांस्कृतिक राजधानी के रूप में भी प्रशिद्ध है। यहाँ आपको एक से एक पर्यटन स्थल देखने को मिल जाते हैं। यहाँ आप प्राचीन इतिहास एवं वर्तमान समय दोनों ही विकाश को एक साथ देख सकते हैं। यहाँ आपको एक से एक ऐतिहासिक किले , समुद्र तट एवं पिकनिक स्पॉट देखने को मिलते हैं। यहाँ आप घूमने फिरने के दौरान काफी सुंदर झरने भी देखने को मिलत जाते हैं।

अगर आप पुणे घूमने का मन बना रहे हैं तो यह लेख आपके लिए काफी मददगार साबित होने वाला है क्योंकि इस लेख में आप पुणे में घूमने की जगह , कैसे जाएँ , कहाँ ठहरे क्या खाएं , पुणे में घूमने के लिए कौन सा समय सही है और घूमने के दौरान आपको कितने रुपये खर्च करने होते हैं। इन सारी चीजों की जानकारी आपको इस लेख में काफी आसानी शब्दों में मिलने वाली है।

पुणे शहर का इतिहास

भारत के पुणे शहर में आपको कई सदियों का इतिहास यहाँ देखने को मिलता है।

  • कहा जाता है वनवास के समय भगवान श्री राम इसी जगह रुके थे।
  • 17 वीं एवं 18 वीं सदी में यह मराठों की राजधानी हुआ करती थी। शिवाजी महाराज के छोटे पुत्र राजाराम ने इस शहर का काफी समृद्ध एवं सांस्कृतिक विकाश किया था। आज भी यहाँ आपको कई नगरी वस्तुएँ एवं किले देखने मिल जाते हैं।
  • 1818 में ब्रिटिशों के द्वारा मराठों को पराजित करने के बाद पुणे को अपने कब्जे में ले लिया था। फिर उसने इस शहर का विकाश अपने हिसाब से किया था।
  • अंग्रेजों के खिलाफ इस पुणे शहर से काफी सारे भारतियों ने स्वतंत्रता के रूप में भाग लिया था। उनके नाम इस प्रकार से हैं – पंडित रामाबाई , गोपाल कृष्ण गोखले एवं बाल गंगाधर तिलक।
  • वर्तमान समय में पुणे काफी तेज गति से उभरते हुए राज्यों में से एक है। यह देश में शिक्षा , विज्ञान एवं टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में अपना विशेष पहचान रखता है।

पुणे में लोकप्रिय पर्यटक स्थल ( Pune Tourist Places in Hindi)

राजगढ़ का किला

अगर आपको पुणे घूमना फिरना अच्छा लगता है और यहाँ के इतिहास के बारे में जानकारी लेना अच्छा लगता है। यहाँ के इतिहास के बारे में जानने का उत्सुकता आपके अंदर है। तो पुणे में घूमने वाले पर्यटन स्थलों के इस राजगढ़ किले में जाने का मौका कभी भी न छोड़े। यहाँ आपको एक से बढ़कर एक ऐतिहासिक घटनावों का प्रमाण देखने को मिलता है।

Rajgad Fort
Rajgad Fort

अगर आप ट्रैकिंग शोक रखते हैं तो फिर यह जगह आपको काफी ज्यादा पसंद आने वाला है। 4600 फ़ीट की ऊंचाई में स्थित यह किला ट्रैकिंग के लिए बहुत ही खास जगह है। ट्रैकिंग के बाद यहाँ आपको रात गुजरना होता है उसके लिए आपको किसी भी तरह की चिंता करने की जरूरत नहीं होती है।

इसे भी पढ़े

लाल महल

आप पुणे घूमने आ रहे हैं और शिवजी के बारे में न जानते हों ऐसा हो ही सकता है। अगर आप शिवजी के बारे में सुने हैं या नहीं सुने हैं। अगर आप शिवाजी के बारे जानकरी लेने के इक्छुक हैं तो आपको पुणे में घूमने लायक स्थान लाल महल में जरूर आना चाहिए। यह महल देखने में बिलकुल ही लाल दिखता है और इसे बनाने के लिए लाल रंग का इस्तेमाल किया गया है। यह पर्यटकों को काफी ज्यादा आकर्षित करती है। कहते हैं की शिवजी ने जब तक नया किला नहीं जीता था तब तक वे इसे किले में रहा करते थे।

Lal Mahal
Lal Mahal

इस किले को शिवजी के पिता शाहजी के द्वारा बनवाया गया था। जिन्होंने 1643 में अपने बीवी एवं बेटे के लिए इस किले का निर्माण करवाया था। यहाँ आप शिवजी के द्वारा शाइस्ता खान की उँगलियों के काटने का प्रमाण भी देख सकते हैं। यहाँ आपको शिवजी के जीवन से सम्बंधित और भी बहुत कुछ जानने को मिलता है। आप शिवाजी के जीवन की घटनाओं को इस दीवार की चित्रों में भी देख सकते हैं।

शिवनेली किला

अगर आप पुणे मे घूमने के लिए आ रहे हैं एवं मराठा शासक शिवाजी के जन्म स्थान देखना चाहते हैं तो आपको यहाँ के शिवनेरी किला को अवश्य घूमने आना चाहिए। यहाँ आपको शिवजी के जीवन एवं उसके जिंदगी से काफी कुछ सिखने को मिलता है। साथ ही शिवाजी के इतिहास के बारे में काफी कुछ जानने को मिलता है।

Shivneri Fort
Shivneri Fort

शिवनेरी किले को घूमने के दौरान आपक यहाँ के भैरवगढ़ , जुमेनेर , जीवधन एवं चावंड देख सकते हैं। यहाँ घूमने के दौरान आपको इस किले की एक खासियत देखने को मिलती है की आपको इस किले तक जाने के लिए सात फाटकों को पार करना पड़ता है। इन सात फाटकों से उस समय किले के सुरक्षा व्यवस्था का पता चलता है। यहाँ आप शिवाजी एवं उनके माता जीजाबाई के मूर्ति को एक साथ देख सकते हैं। जिसे की पर्यटकों के द्वारा काफी ज्यादा पसंद किया जाता है।

आगा खान पैलेस

पुणे में घूमने वाले पर्यटन स्थलों में एक नाम आगा खान पैलेश का भी आता है। जिसे की यहाँ आने वाले पर्यटकों के द्वारा काफी ज्यादा पसंद किया जाता है। इस पैलेश को मुम्मद शाह आगा खान 3 द्वारा बन 1892 में बनवाया गया था।

Aga Khan Palace
Aga Khan Palace

यहाँ आपको महात्मा गाँधी के जीवनी के बारे में बहुत कुछ जानने को मिलता है। इस किले को आगा खान के द्वारा महात्मा गाँधी को दान कर दिया गया था। 1942 से 1944 के दौरान महादेव भाई देसाई एवं कस्तूरबा गाँधी को इसी जेल में बंदी बना लिया गया था।

जैसे की आपने पहले ही पढ़ लिया है यहाँ आपको गाँधी जी के जीवनी के बारे में बहुत कुछ जानने को मिलता है। साथ ही यहाँ आपको कुछ प्रशिद्ध समारक भी देखने को मिलते हैं जैसे की महात्मा गाँधी उनके के सचिव महादेव भाई देसाई एवं उनकी पत्नी कस्तूरबा गाँधी। इसके आस पास के बगीचे एवं गार्डन में आपके शकुन के कुछ पल बिताने के लिए काफी उत्तम जगह है।

पार्वती हिल

पुणे में घूमने वाले पर्यटन स्थलों में यह पार्वती हिल स्टेशन काफी ज्यादा प्रशिद्ध है। समुद्र तल से 2100 फ़ीट की ऊंचाई में स्थित पार्वती हिल अपने प्राचीन मंदिरों के कारण काफी ज्यादा चर्चित है। यहाँ आपको चार मंदिर देखने को मिलेगा ,जिसमें भगवान शिव , विष्णु , गणेश एवं कार्तिकेय की पूजा की जाती है।

Parvati Hill
Parvati Hill

पार्वती हिल ट्रैकिंग एवं प्राकृतक भर्मण के लिए भी यहाँ आने वाले पर्यटकों को काफी भाता है।

यहाँ पर आपको एक संग्राहलय भी देखने को मिलता है। जो की पार्वती संग्रहालय के नाम से जाना जाता है , यहाँ आपको पेशवा शासक के कुछ चित्र , पाण्डुलिपि , बंदूके प्राचीन तलवार और भी बहुत कुछ देखने को मिलते हैं। साथ ही पर्वत की छोटी से आसपास का अद्भुत नजारा भी देखने को मिलता है।

सिंहगढ़ किला

पुणे में घूमने के लिए खूबसूरत जगहों में इस सिंहगढ़ किले को इतिहास प्रेमियों के द्वारा काफी ज्यादा पसंद किया जाता है। यह अपने ऐतिहासकि महत्व एवं वास्तुकला के लिए पूरी दुनियाँ अपनी विशेष पहचान रखता है। यह सिंहगढ़ किला आपको सहाद्रि पर्वत की तलहटी देखने को मिलता है। इस किले की ऊंचाई समुद्र तल से 750 मीटर है। यह किला खोंडना के नाम से प्रशिद्ध है जिसमें आप इतिहास के कई बड़े बड़े लड़ाई के प्रमाण देख सकते हैं।

 Sinhagad Fort
 Sinhagad Fort

यहाँ का अद्भुत प्राकृतक वातावरण आपके लिए किसी स्वर्ग से काम नहीं होने वाला है। सिंहगड़ किला का मतलब होता है सिंह का किला , यानि की यहाँ आपको इसकी वीरता एवं शक्ति के बारे में जानने को मिलता है।

यहाँ आप अपने ट्रेकिंग एवं फोटोग्राफी के शोक को भी पूरा कर सकते हैं। यहाँ का अद्भुत प्राकृतिक माहौल में आपको शांति से कुछ पल बिताने का मौका देता है।

पश्चिमी घाट

पुणे में घूमने लायक स्थान में एक नाम पश्चिमी घाट में भी आता है। अगर आप प्रकृति प्रेमी एवं वनस्पति प्रेमी हैं तो यह जगह आपको खूब पसंद आने वाला है। यहाँ आपको एक से एक लुभावने दृश्य देखने को मिलते हैं। अगर आप यहाँ पर घूमने के लिए आ रहे हैं तो आपको प्रकृति की अध्भुत खूबसूरती देखने को मिलती है जैसे यहाँ आप शानदर घने जंगल , फूलों के शानदार बगीचे , ऊंची ऊँची पहाड़ियाँ एवं पहाड़ो की अध्भुत खूबसूरत घाटियां भी देख सकते हैं।

Western Ghats
Western Ghats

इस तरह का हरा भरा माहौल शांति एवं शकुन के पल बिताने लिए पर्यटकों के लिए काफी अच्छा जगह है। इस खूबसूरत जगह को यूनेस्को के वर्ल्ड हेरिटेज साइट में शामिल कर लिया गया है। अगर आपको फोटोग्राफी करना अच्छा लगता है तो यह आपके लिए और भी खुशी की बात है।

राजा दिनकर केलकर म्यूजियम

पुणे में घूमने वाले स्थानों में राजा दिनकर केलकर संग्रहालय का नाम भारत के दूसरे सबसे बड़े संग्राहलय में आता है। इसे राजा दिनकर केलकर की याद में बनवाया गया था , जिसके एकलौते पुत्र का निधन काफी दुखद हुआ था। यहाँ आप भारत के अलग अलग हिस्सों के कला कृतियों को देख सकते हैं।

Raja Dinkar Kelkar Museum
Raja Dinkar Kelkar Museum

साथ ही यहाँ आपको और भी बहुत कुछ देखने को मिलता है। पुणे में घूमने वाले इस पर्यटन स्थल में आप हथियार मूर्तियाँ , पेंटिंग , लेखन सामग्री , लकड़ी की वस्तुएं हाथीदांत की वस्तुएं , सिक्के एवं वस्त्र जैसे कीमती वस्तुओं को देख सकते हैं। यह संग्राहलय 21000 से ज्यादा जातीय संस्कृति एवं परम्पराओं का परिनिधित्व करता है।

पुणे का प्रसिद्ध स्थानीय भोजन

अगर आप पुणे घूमने के लिए आ रहे हैं तो एक बात अपने मन में बिठा के रख लें की पुणे सिर्फ अपने दर्शनीय स्थलों एवं पर्यटन स्थलों के कारण ही नहीं जाना जाता है। यह अपने स्वादिस्ट व्यंजन के लिए भी जाना जाता है। यहाँ आप महाराष्ट्र के स्थानीय भोजन के साथ साथ भारत के अन्य राज्यों के भोजन का भी शानदार मजा सकते हैं। अगर आप कांटिनेंटल फ़ूड के शौकीन तो उसके लिए भी आपको काफी अच्छा वयवस्था देखने को मिल जाती है।

अगर आप स्ट्रीट फ़ूड के शौकीन तो इसके लिए भी आपको ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है यहाँ आपको स्ट्रीट फ़ूड के रूप में पावभाजी , बड़ापाव , मिसलपाव , पोहा , दाबेली , पूरनपोली जैसे व्यंजन का स्वाद लेने का मौका मिलता है। देश विदेश से आने वाले पर्यटकों के लिए यह फेवरट हैं।

पुणे घूमने के लिए सबसे अच्छा समय

वैसे तो यहाँ आपको सालों भर पर्यटकों का भीड़ देखने को मिलता है। आपका जब कभी भी आने का मन हो आ सकते हैं और पुणे में घूमने वाले पर्यटन स्थलों का भरपूर मजा ले सकते हैं। लेकिन फिर भी अन्य महीनो की तुलना में आपको यहाँ पुणे में घूमने वाले पर्यटन स्थलों में सबसे ज्यादा भीड़ आपको अक्टूबर से फ़रवरी के बीच देखने को मिलता है। क्योंकि अक्टूबर से फ़रवरी तक के महीने का जो मौसम होता है काफी सुखद , हल्का ठंडी और काफी ज्यादा ठंडी देने वाला होता है।

यहाँ आयोजित होने वाले सवाई गंधर्व संगीत महोत्सव का मजा लेना चाहते हैं आपको दिसम्बर में आना होगा। शास्त्रीय संगीत को पसंद करने वाले लोगों के द्वारा इसे खूब पसंद किया जाता जाता है।

पुणे कैसे पहुंचे?

महाराष्ट्र में पुणे का नाम दूसरे सबसे बड़े शहरों में आता है। अगर आप पुणे में घूमने वाले सारे पर्यटन स्थलों का दर्शन आप करना चाहते हैं और यहाँ आने के बारे में सोच रहे हैं तो यहाँ तक पहुँचने लिए रेलवे सड़क एवं हवाई मार्ग किसी भी माध्यम से आ सकते हैं। क्योंकि महाराष्ट्रा को भारत की अर्थव्यवस्था की राजधानी कहा जाता है। इसलिए महाराष्ट्रा में स्थित पुणे भारत को हर छोटे शहरों से ट्रेन बस एवं हवाई मार्ग द्वारा काफी अच्छी तरीके से जुड़ा हुआ है

सड़क मार्ग द्वारा

अगर आपको सड़क मार्ग से यात्रा करना अच्छा लगता है और सस्ते साधनों की जुगाड़ में हैं तो बस द्वारा यात्रा करना आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प है। पुणे में आपको दो बस स्टेण्ड मिल जाती है एक चिचवाड़ा बस स्टेशन एवं पुणे बस स्टेशन। यह भारत के सारे प्रमुख शहरों से काफी अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। अगर आप छोटे कस्बे या शहर से हैं। जो की पुणे के बस सर्विस नहीं देता है तो आप अपने राज्य के नजदीकी शहरों तक पहुँच जाएँ जो पुणे के लिए डायरेक्ट बस सर्विस देता है।

पुणे के पड़ोसी शहरों से जैसे हैदराबाद , नागपुर, बंगलौर एवं मुंबई जहाँ से आप पुणे के आसानी से बस ले सकते हैं।

रेलवे मार्ग से

अगर आप रेलवे मार्ग से जाने के बारे में सोच रहे हैं तो यहाँ आपको मुख्यतः दो रेलवे स्टेशन देखने को मिल जाते हैं पुणे जंक्शन एवं शिवजीनगर रेलवे स्टेशन। आपको अपने शहर से यहाँ के लिए जरूर टिकट मिल जायेंगे। आप अपने शहर से टिकट बुक करा कर आसानी तथा बड़े इत्मीनान से अपनी यात्रा को पूरा कर सकते हैं।

अगर आप मुंबई से पुणे आने के बारे में सोच रहे हैं तो यहाँ के लिए भी आपको काफी ट्रेने मिल जाती है। मुंबई से पुणे के लिए ट्रेन आपको दादर छत्रपति शिवजी टर्मिनल एवं कल्याण रेलवे स्टेशन से रोजाना मिल जाती है। इन ट्रेनों के माध्यम से आप 4 से 5 घंटे में पुणे से मुंबई तक का सफर तय कर सकते हैं।

हवाई मार्ग

पुणे महाराष्ट्रा का काफी विकसित शहर है। औधोगिकी एवं प्रौद्योगिकी शहर होने की वजह यहाँ काफी बड़े संख्या में बड़े बड़े व्यपारियों का आना जाना लगा रहता है। पुणे शहर का हवाई अड्डा पुणे से 30 किलोमीटर की दुरी में देख सकते हैं। पुणे अपने यात्रियों के लिए घरेलु एवं अंतरास्ट्रीय हवाई सेवाएं दोनों तरह की सेवाओं का मुहैया प्रदान करती है। यहाँ आने वाले व्यपारियों एवं यात्रियों को ध्यान में रखते हुए यहाँ की सरकार ने लोहगांव के पास न्यू ग्रीन फील्ड का निर्माण करवाया है।

पुणे में रुकने की जगह

किसी भी जगह में अगर आप घूमने जा रहे हैं तो सबसे पहले और सबसे ज्यादा जरुरी कुछ होता है तो वहाँ पर रुकने की जगह होती है। ऐसे में यदि आप पुणे में घूमने वाले स्थानों का सही से भर्मण करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको यहाँ कम से कम 2 से 3 दिन एवं अधिक से अधिक सफ्ताह भर रुकने का जरूरत होता है। उसके लिए आपको एक अच्छे से होटल में रुकने की जरूरत होती है।

यहाँ आपको एक से एक सस्ते से महंगे होटल मिल जायेंगे , यह आपके बजट पर जाता है की आप किस तरह के होटल में रह सकते हैं। यहाँ आप ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों तरह से होटल को बुक कर सकते हैं। लेकिन मेरी मने तो आप ऑनलाइन ही होटल को बुक कर लें क्योंकि आप दूर क्षेत्रों से यहाँ घूमने के लिए आ रहे हैं। अगर आप ऑफलाइन की सोच रहे हैं तो आपके लिए घाटे का सौदा हो सकता है यहाँ आपको रूम मिल भी सकता है और नहीं भी।

पुणे में कैसे घूमे?

पुणे में रेलवे स्टेशन , बस अड्डा एवं हवाई अड्डा से बाहर निकलते ही लोकल बस टैक्सी मिल जाती है जिसके मदद से आप पुरे पुणे को बड़े आराम से तथा मजे मजे के साथ घूम सकते हैं।

इसके अलावे Ola /Uber भी आपके लिए काफी ज्यादा मददगार साबित होगा , अपने यात्रा के दौरान इसका इस्तेमाल करना बिलकुल भी न भूलें।

पुणे घूमने का खर्चा

यह आप पर जाता है की आप पुणे में घूमने वाले पर्यटन स्थलों को किस प्रकार से एक्स्प्लोर करना चाहते हैं। एवं यहाँ आने के लिए आप किस तरह के यातायात के साधनो को इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसा नहीं है की आपका बजट अच्छा खासा हो तब ही यहाँ आप घूमने के लिए आ सकते हैं।

अगर आपका बजट कम भी हो तो यहाँ घूमने के लिए आ सकते हैं। अगर आपका बजट ज्यादा हो अच्छा खासा हो तो आपके लिए और भी अच्छी बात है। अच्छे होटलों में रुक सकते हैं एवं पुरे पुणे को काफी अच्छे तरह से घूम सकते हैं। आपको घूमने फिरने के दौरान कही भी कटौती करने की जरूरत नहीं पड़ती है।

FAQ

पुणे क्यों प्रशिद्ध है ?

पुणे को भारत का “डेट्राइट” कहा जाता है क्योंकि यह अपने औधोगिकी एवं प्रौधोगिकी के लिए काफी ज्यादा प्रशिद्ध है।

मुंबई से पुणे जाने में कितने घंटे का समय लगता है ?

मुंबई से पुणे जाने के लिए आपके 3 से 4 घंटे का समय देना होता है।

पुणे घूमने के लिए कितने दिनों की आवश्य्कता होती है ?

पुणे घूमने के लिए आप के लिए 2 दिन का समय काफी होता है।

पुणे जंक्शन कहाँ स्थित है ?

पुणे जंक्शन आपको अगरकर नगर में देखने को मिल जाता है।

पुणे का पूरा नाम किया है ?

प्रचीन इतिहास में पुणे पुन्नक के नाम से प्रशिद्ध था।

पुणे में कौन सी भाषा बोली जाती है ?

पुणे में मराठी बोली जाती है।

निष्कर्ष

मेरे इस लेख में आपको पुणे में घूमने की जगह से सम्बंधित सारी जानकारी आपको काफी सरल शब्दों में मिल जाएगी। पुणे में घूमने के लिए यात्रा की शुरुवात कब करें , कैसे करें एवं पुणे में घूमने के लिए कौन सा पर्यटकों के लिए सही रहता है। इस तरह की तमाम जानकारी इस लेख में आपको काफी सरल शब्दों में मिलने वाली है।

आशा करते हैं की मेरे इस लेख के माध्यम से आप पुणे घूमने की यात्रा को काफी सुखद , सुलभ एवं आंनदायक बना सकते हैं। अतः इसे सोशल मिडिया के थ्रू अपने दोस्तों व रिश्तेदारों के साथ शेयर करना बिलकुल भी न भूलें।

मेरे इस लेख पुणे में घूमने वाले पर्यटन स्थलों में आपको किसी भी प्रकार की त्रुटि देखने को मिल रही है तो इसे आप कमेंट सेक्शन में हमें बताना बिलकुल भी न भूलें।

Leave a comment